अमित शाह ने दिल्ली में शुरू किया डोर टू डोर कैंपेन, घर-घर जाकर CAA के बारे में दे रहे जानकारी

अमित शाह का कहना है कि लोगों को गलत जानकारी देकर उन्हें भड़काया जा रहा है। इसके चलते उन्होंने कम्पेन शुरू किया है। जिसके जरिए वह लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

0
536

CAA awareness campaign- दिल्ली में आगामी चुनावों को देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को एक कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस और दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी (AAP) पर जमकर हमला बोला है। इस सम्मेलन के बाद अमित शाह ने BJP के डोर टू डोर कैंपेन (Door to door campaign) में हिस्सा लिया। इस दौरान वह लाजपत नगर पहुंचे।

जहां उन्होंने भाजपा कैंपेन में हिस्सा लेते हुए डोर टू डोर पंफलेट बांटे। इन पंफलेट के जरिए उन्होंने लोगों को नागरिकता कानून (CAA) के बारे में जानकारी दी है।

अमित शाह (Amit Shah) कई बार कह चुके हैं कि लोगों में CAA को लेकर भ्रम पैदा किया जा रहा है। उनका कहना है कि लोगों को गलत जानकारी देकर उन्हें भड़काया जा रहा है। इसके चलते उन्होंने यह कम्पेन शुरू किया है। जिसके जरिए वह लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

वहीं इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं से संवाद किया। इस दौरान तालकटोरा स्टेडियम (Talkatora Stadium) में हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता पहुंचे। गृहमंत्री अमित शाह ने कार्यकर्ताओं का हौसला बुलंद करते हुए दावा किया कि इस बार दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बनेगी।

इस दौरान उन्होंने दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार (AAP) पर हमला करते हुए कहा कि सीएम केजरीवाल ने जनता को झांसा दिया। यह बार-बार नहीं हो सकता। जनता हर बार किसी के झांसे में नहीं आ सकती। इस बार दिल्ली में भाजपा की सरकार बनेगी। अमित शाह ने मोहल्ला मीटिंग द्वारा लोगों तक पहुंचने का आह्वाहन करते हुए कहा कि सभी कार्यकर्ताओं के साथ मैं खुद जनता के साथ मोहल्ला मीटिंग करूंगा।

उन्होंने कहा कि जनता ने नगर निगम चुनाव में भाजपा का चुनाव किया। इससे साफ हो गया कि दिल्ली की जनता किसे चाहती है। उन्होंने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 20 कॉलेज और 50 स्कूलों का वादा किया गया था, लेकिन वो स्कूल कॉलेज कहीं नहीं दिख रहे हैं।

इसके साथ ही उन्होंने एक बार फिर CAA को लेकर कांग्रेस और आप सरकार पर झूठ फैलाने और दंगा भड़काने का आरोप लगाया। इसके साथ ही एक बार फिर नागरिकता कानून (CAA) का विरोध कर रहे लोगों को आश्वासन दिया कि इससे किसी की नागरिकता खतरे में नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here