2019 के वोटों को लेकर सियासत हुई गर्म, मायावती बोलीं बीजेपी सरकार दलितों को लेकर करती है सिर्फ ड्रामा

0
389

अगला लोकसभा चुनाव होने में अभी भी एक साल का समय बचा है लेकिन मिशन 2019 को लेकर सभी दल अभी से ही कमर कस चुके हैं। मन की बात’ कार्यक्रम में पीएम मोदी की ओर से भीमराव अंबेडकर का कई बार जिक्र करने पर आज बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने जमकर निशाना साधा है। इसी कड़ी में आज एक बड़ा फैसला हो सकता है। दरअसल उत्तर प्रदेश राज्यसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर की हार के बाद पार्टी सुप्रीमो मायावती ने अपने विधायकों की बैठक बुलाई है। राज्यसभा चुनाव में बीएसपी उम्मीदवार भीमराव अंबेडकर को हराने के लिए अतिरिक्त प्रत्याशी खड़ा करना सबसे बड़ा उदाहरण है।

ये बैठक आज लखनऊ में शुरू हो चुकी है। माना जा रहा है कि इस बैठक में मायावती बसपा कॉआर्डिनेटरों से सपा-बसपा गठबंधन को लेकर फॉर्मूले पर विचार कर सकती हैं। बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि सपा-बसपा अपने निजी स्वार्थों के लिए एक साथ नहीं आए हैं, बल्कि बीजेपी के कुशासन के खिलाफ खड़े हुए हैं। आपको बता दें कि मायावती 2019 लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं।

मायावती यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि अपने साढ़े चार सालों के शासनकाल में बीजेपी ने दलितों को लेकर सिर्फ ड्रामा किया है। मोदी जी ने मन की बात में भीमराव अंबेडकर के बारे में बात की थी लेकिन उनकी सोच बाबा साहब के बिलकुल के खिलाफ है। यही कारण है कि बीजेपी-आरएसएस एक दशकों से सत्ता से बाहर रही है खासकर दलितों को लेकर। मोदी जी ने मन की बात में बीआर आंबेडकर के लिए बोला था लेकिन उनकी मानसिकता बाबा साहेब के बिल्कुल विपरीत है जिसके खिलाफ वे खड़े हुए थे। यही वजह है कि बीजेपी-आरएसएस पिछले कई दशकों तक सत्ता से बाहर रही थी।

उन्होंने आगे कहा कि वे लोग अंबेडकर का नाम जपते हैं लेकिन उस कैटिगरी से जो आते हैं उन पर अत्याचार करते हैं। उन्होंने कहा कि बसपा-सपा का गठबंधन स्वार्थपूर्ण नहीं है बल्कि यह बीजेपी के कुशासन के खिलाफ है। गौरतलब है कि रविवार को पीएम मोदी ने अपने 42वें मन की बात कार्यक्रम में कहा था कि आज हमने शासन के हर पहलू में सहकारी संघवाद और उससे आगे बढ़ करके कम्पीटीटिव कोपरेटिव फेडरलिज्म के मंत्र को अपनाया है, डॉ. बाबा साहब अंबेडकर पिछड़े वर्ग से जुड़े मुझ जैसे करोड़ों लोगों के लिए एक प्रेरणा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here