Ind vs SA day 2- भारतीय टीम 502/7 पहली पारी घोषित, दक्षिण अफ्रीका 39/3

भारतीय टीम ने खेल के दूसरे दिन 502/7 पर पहली पारी घोषित की। जवाब में दक्षिण अफ्रीकी टीम दूसरे दिन का खेल खत्म होते-होते महज 39 रन पर तीन विकेट खो चुकी है।

0
1381

India vs S Africa – भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैच की सीरीज का पहला मुकाबला विशाखापट्टनम के राजशेखर रेड्डी स्टेडियम में खेला जा रहा है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने खेल के दूसरे दिन 502/7 पर पहली पारी घोषित की। जवाब में दक्षिण अफ्रीकी टीम दूसरे दिन का खेल खत्म होते-होते महज 39 रन पर तीन विकेट खो चुकी है। दो विकेट रवि अश्विन तो एक विकेट रवींद्र जडेजा ने चटकाए। इस तरह मेहमान टीम भारत की पहली पारी के आधार पर अब भी 463 रन से पीछे हैं।

सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal – 215) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma – 176) की ऐतिहासिक पारियों के बाद गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन के बूते पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया की पकड़ मजबूत हो चुकी है।

इसके पहले गुरुवार को अपने पहले दिन के स्कोर 0/202 से आगे खेलते हुए मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा ने एकबार फिर अफ्रीकी गेंदबाजों को परेशान किया। दोनों की जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ भारत की सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम किया। 317 रन की ओपनिंग साझेदारी करते हुए राहुल द्रविड़ और वीरेंद्र सहवाग का 11 साल पुराना बड़ा रिकॉर्ड तोड़ा। सहवाग-गंभीर ने साल 2008 में खेले गए चेन्नई टेस्ट मैच में 268 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप का रिकॉर्ड बनाया था।

सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal – 215) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma – 176) के दमदार खेल के बूते भारत ने पहले टेस्ट की पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 502 रन बनाए। यह 14वां मौका होगा, जब भारतीय टीम ने टेस्ट क्रिकेट में 500+ का स्कोर बनाया हो।

317 रन के स्कोर पर भारत को पहला झटका लगा। रोहित शर्मा दोहरे शतक से चूक गए और 176 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए। रोहित ने मयंक के साथ पहले विकेट के लिए 317 रन की साझेदारी की। यह भारत के लिए टेस्ट में पहले विकेट के लिए तीसरी सबसे बड़ी और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सबसे बड़ी साझेदारी है।

पुजारा 17 गेंदों का सामना कर सिर्फ 6 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद कप्तान विराट कोहली भी 20 रन बनाकर आउट हो गए। नए बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। एक ओर से विकेट गिरते जा रहे थे, लेकिन दूसरा छोर मयंक अग्रवाल संभाले हुए थे। अपनी पहली टेस्ट सेंचुरी को दोहरे शतक में बदलते हुए मयंक अग्रवाल ने जमकर सुर्खियां बटोरी।

जल्द ही 215 रन के स्कोर पर मयंक के रूप में भारत को पांचवां झटका लगा। इस वक्त तक टीम का स्कोर 436 रन हो चुका था। जल्द ही हनुमा विहारी (10) और लंबे समय बाद टीम में वापसी कर रहे ऋधिमान साहा (21) भी चलते बने। यहां से भारतीय कप्तान कोहली मानसिक तौर पर पारी घोषित करने को तैयार हो चुके थे। जैसे ही टीम का स्कोर 500 रन के पार पहुंचा टीम इंडिया ने अपनी पारी घोषित करने का एलान कर दिया। रवींद्र जडेजा (30) और रविचंद्रन अश्विन (1) नाबाद रहे। दक्षिण अफ्रीका की ओर से स्पिनर केशव महाराज ने सर्वाधिक तीन विकेट चटकाए। वर्नोन फिलेंडर, सेनुरन मुथुसामी और डेन पीट को 1-1 विकेट से संतोष करना पड़ा।

पिछले साल दिसंबर में मेलबर्न में टेस्ट डेब्यू करने वाले मयंक का भारतीय सरजमीं पर पहला टेस्ट मैच है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उस मैच में कर्नाटक से आने वाले बल्लेबाज ने शानदार 76 रन की पारी खेली थी। इसके बाद भी उनके बल्ले से अर्धशतक निकले, लेकिन वह उसे शतक में नहीं बदल सके। मयंक अग्रवाल इससे पहले तीन अर्धशतक जड़ चुके हैं। अपने डेब्यू मैच में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 76 रन की पारी खेली थी। वहीं, दूसरे मैच में भी मयंक अग्रवाल 77 रन बनाकर आउट हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here