ICMR की रिपोर्ट में चौंकाने वाले खुलासे, मई की शुरुआत में ही 64 लाख लोग हो चुके थे कोरोना संक्रमित

इंडयिन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक देश में मई की शुरुआत तक 0.73 फीसदी व्यस्क यानी करीब 64 लाख लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके थे।

0
294

ICMR की ओर से किए गए पहले राष्ट्रीय सीरो सर्वे (SERO survey) के नतीजे सामने आ गए हैं। इंडयिन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक देश में मई की शुरुआत तक 0.73 फीसदी व्यस्क यानी करीब 64 लाख लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके थे।

सर्वे को 11 मई से 4 जून के बीच अंजाम दिया गया था। इस दौरान 28 हजार लोगों के ब्लड सैंपल की IgG Antibody की जांच की गई। यह जांच कोविडकवच ELISA किट के जरिए की गई।

सबसे अधिक सीरोपॉजिटिविटी 18-45 आयुवर्ग (43.3%) में देखी गई, जिसके बाद 39.5% लोग 46-60 आयुवर्ग के थे तो 60 वर्ष से अधिक उम्र वालों की हिस्सेदारी 17.2% थी। सीरो सर्वे के मुताबिक अनुमान लगाया गया कि मई की शुरुआत तक देश में कुल 64 लाख 68 हजार 388 लोग संक्रमित पाए गए।

रिपोर्ट में कहा गया है, ”सर्वे के परिणाम संकेत करते हैं देश में सीरोप्रसार कम है, मई के मध्य तक देश में SARS-CoV-2 के संपर्क में एक फीसदी से कम लोग आए। अधिकतर जिलों में इसका कम प्रसार संकेत करता है कि भारत महामारी के शुरुआती फेज में हैं और अधिकतर भारतीय COVID-19 संक्रमण को लेकर अतिसंवेदनशील हैं।”

कुल 0.73% सीरोप्रसार और सामने आए COVID केसों के आधार पर यह अनुमान लगाया गया कि प्रति RT-PCR कंफर्म्ड केस से 82-130 लोग संक्रमित हुए। सर्वे के लिए 70 जिलों के 700 क्लस्टर के 30,283 घरों का दौरा किया गया। इनमें से 25.9 पर्सेंट क्लस्टर शहरी इलाकों के थे। 28 हजार लोगों ने स्वेच्छा से इसमें भाग लिया। इनमें से करीब 48.5 पर्सेंट प्रतिभागियों की उम्र 18-45 के बीच थी और 51.5 पर्सेंट महिलाएं थीं। 18.7 पर्सेंट लोग हाई रिस्क वाले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here