भारत पाकिस्तान जांच के लिए भेजेगा अपने 20 डॉक्टरों की टीम

0
277
SUSHMA SWARAJ

हर दिन पाकिस्तान-भारत के खिलाफ ज़हर उगलता आया है लेकिन फिर भी भारत ने पाकिस्तान की कड़ी मुश्किलों में उसका साथ दिया है और एक फिर ऐसा ही भारत करने जा रहा है बता दें दोनों देश एक प्रस्ताव पर बातचीत कर रहे हैं जिसमे भारत के तक़रीबन 20 डॉक्टरों की टीम को पाकिस्तान भेजा जाएगा। यह टीम पाक जेल में बंद भारतीय बच्चों, महिलाओं, बुजुर्गों और दिमागी तौर पर बीमार कैदियों की जांच करेगी।

इस बातचीत के बाद पाकिस्तान जेल में बंद कैदियों में एक आशा की किरण जगी है इस बातचीत में डॉक्टरों को वीज़ा देने की बात चल रही है लेकिन सूत्रों के हवाले से पता चला है बातचीत के बिलकुल उल्ट पाकिस्तान इतने डॉक्टरों को वीज़ा देने के लिए आपत्ति जाहिर कर रहा है। भारत ने पड़ोसी देश के साथ तनाव कम करने के लिए इस मामले पर अपने प्रयास तेज कर दिए हैं भारत ने डॉक्टरों को भेजने से पहले पाकिस्तान के सामने 4 शर्तें रखी हैं। भारत ने पाकिस्तान से कहा हैं भारतीय राजनयिकों को परेशान करने पर रोक लगाना, उच्चायुक्त अजय बिसारिया को इस्लामाबाद से बाहर जाने की अनुमति देना, इस्लामाबाद में भारतीय रेजिडेंशियल कॉम्प्लेक्स बनाने और राजनयिकों को इस्लामाबाद क्लब की सदस्यता देना शामिल है।

बात दें परिक्षण के बाद आवश्यक है कि भारत सरकार पाक की जेलों में बंद अपने लोगों को वापिस भारत लाएं। अक्टूबर 2017 में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान उच्चायुक्त सोहेल महमूद के साथ मानवीय आधार को लेकर हुई वार्ता में यह प्रस्ताव रखा था। स्वराज ने प्रस्ताव में कहा था कि दोनों देश मानवीय आधार पर बच्चों, महिलाओं, बुजुर्गों और दिमागी रूप से बीमार कैदियों को एक दूसरे को सौंप दें। 7 मार्च को राजनयिक विवाद के बीच पता चला कि पाक ने इस प्रस्ताव पर सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। पाकिस्तान चाहता है कि दिल्ली और इस्लामाबाद में शांतिपूर्वक निर्माण कार्य करवाने के लिए भारत प्रोटोकॉल पर साइन करे। सूत्रों के हवाले से मिली सूचना के अनुसार क्लब मेंबरशिप पर पाकिस्तान किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करने वाला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here