सरकार ने Whatsapp से कहा, ‘भारतीय कानून का करना होगा पालन’

0
486
New Delhi: Union Minister for Electronics & Information Technology Ravi Shankar Prasad addresses a press conference on the achievements of the Ministry during 3 years of NDA Government, in New Delhi on Tuesday. PTI Photo by Kamal Singh(PTI5_23_2017_000057B)

वॉट्सऐप और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर फेक मैसेज और अफवाहों के बाद देश के कई हिस्सों में तनाव और लिंचिंग जैसी कुछ घटनाएं हुई थी जिसके बाद से सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद एक्शन मोड में हैं। भारत ने मैसेंजिंग ऐप वाट्सऐप से देश में स्थानीय इकाई स्थापित करने, फर्जी संदेशों के सोर्स का पता लगाने के लिए तकनीकी समाधान खोजने को कहा है। वॉट्सऐप के सीईओ क्रिस डैनियल ने मंगलवार को सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद से दिल्ली में मुलाकात की। प्रसाद ने कहा कि सरकार ने वॉट्सऐप से अफवाहों को रोकने, पॉर्न और फेक न्यूज पर लगाम के लिए तकनीकी समाधान ढूंढने को कहा है।

ये हैं वो तीन बातें

1-वाट्सऐप पर फेक न्यूज और अफवाहों को रोका जाए और इसके लिए प्रभावी समाधान किया जाए।
2-भारत में काम करने के लिए कार्यालय बनाया जाए।
3-फर्जी संदेश की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए तकनीकी समाधान तलाशें और शिकायत निपटारे के लिए अधिकारी नियुक्त करें।

रवि शंकर प्रसाद ने वॉट्सऐप सीईओ से बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैंने क्रिस डैनियल से स्पष्ट कहा है कि यदि भारत में काम करना है तो इसके लिए स्थानीय कंपनी बनानी होगी। इस ऐप पर किसी फर्जी संदेश के स्रोत का पता लगाने का तकनीकी समाधान तलाशना होगा। इस ऐप ने भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था की कहानी में उल्लेखनीय योगदान किया है, लेकिन उसे भीड़ के हमले तथा प्रतिशोध के लिए अश्लील तस्वीरें प्रेषित करने जैसे दुष्क्रित्यों से निपटने के समाधान तलाशने होंगे।’

बता दें कि वॉट्सऐप और सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर फेक मेसेज और अफवाहों के बाद देश के कई हिस्सों में तनाव और लिंचिंग की कुछ घटनाएं जारी हुई थीं। केंद्रीय आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने उस वक्त ही वॉट्सऐप पर इन्हें रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने की मांग की थी।

फेक न्यूज और अफवाहों के बाद वॉट्सऐप ने सभी प्रमुख अखबारों में ऐड देकर इनसे बचने का तरीका समझाया था। इसके साथ ही वॉट्सऐप ने अपने फीचर्स में भी कई बड़े बदलाव किए और फॉरवर्ड मेसेज के साथ ही पता चल जाता है कि मेसेज फॉरवर्ड किए गए हैं।

निरंजन कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here