Coronavirus- कोरोना के डर से खाली स्‍टेड‍ियम में कराए जा सकते हैं IPL-2020 के मैच

खेल सचिव राधे श्याम जुलानिया ने कहा है कि अगर कोई खेल है, जिसे टाला नहीं जा सकता है तो उसे बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना चाहिए

0
6822

कोरोनावायरस (Coronavirus) के दुनियाभर में बढ़ते खतरे के बीच BCCI IPL 2020 के मैचों का आयोजन बंद दरवाज़ों के पीछे (यानी दर्शक मैदान मौजूद नहीं होंगे) करवाए जाने पर विचार कर रहा है. BCCI के एक अधिकारी ने बताया, “हम बंद दरवाज़े के पीछे IPL मैचों के आयोजन की संभावना पर विचार कर रहे हैं… टीमों को दिए जाने वाले मुआवज़े पर शनिवार को चर्चा की जाएगी…” गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए पॉज़िटिव केस सामने आने के बाद नई एडवाइज़री जारी करते हुए कूटनीतिक और रोज़गार की खास श्रेणियों को छोड़कर सभी मौजूदा विदेशी वीसा पर 15 अप्रैल तक के लिए रोक लगा दी है.

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने BCCI सहित अन्य राष्ट्रीय महासंघों को साफ तौर पर कहा कि कोरोनो वायरस (Coronavirus) के खतरों के बीच अगर देश में किसी भी टूर्नामेंट का आयोजन किया जाता है तो उसे बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना होगा. सरकार के इस फैसले के बाद अब यह साफ है कि BCCI अगर IPL का आयोजन करता है, तो उसे इस टूर्नामेंट को दर्शकों के बिना ही आयोजित करना होगा और ऐसे में यह टूर्नामेंट अब बंद दरवाजों के बीच खेला जा सकता है. खेल सचिव राधे श्याम जुलानिया ने कहा है कि अगर कोई खेल है, जिसे टाला नहीं जा सकता है तो उसे बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इसमें दर्शक न आए.

खेल सचिव ने कहा, “BCCI सहित सभी राष्ट्रीय संघों से कहा गया है कि वे स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और सलाह का पालन करें. हमने उन्हें किसी भी सार्वजनिक सभा से बचने के लिए भी कहा है और अगर कोई खेल टूर्नामेंट का आयोजन होना है, तो उसे बंद दरवाजों के बीच लोगों के बिना आयोजित किया जाना चाहिए.” उन्होंने कहा, “यह राज्य सरकार के ऊपर है जिसे दर्शकों का प्रबंधन करना है और उनके पास इसे रोकने के लिए महामारी रोग अधिनियम (1897 की महामारी अधिनियम) के तहत शक्ति प्राप्त है. यदि इसे (टूर्नामेंट को) टाला नहीं जा सकता है तो इसे दर्शकों के बिना ही बंद दरवाजों के बीच आयोजित करना चाहिए.”सरकार के इस निर्देश के अब यह साफ है कि BCCI अगर IPL का आयोजन करता है, तो उसे इसे बंद दरवाजों के बीच कराना होगा.

इस मामले में जब BCCI अधिकारी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें भी सरकार के फैसले का पालन करने की जरूरत है. इस अधिकारी ने कहा, ” BCCI खेल, अपने खिलाड़ियों, प्रशंसकों और लीग के हित में सर्वश्रेष्ठ संभव कदम उठाएगा. परिस्थितियां तेजी से बदल रही है और बोर्ड का वास्तव में इस स्थिति पर नियंत्रण नहीं है. IPL कार्यकारी परिषद की मुंबई में शनिवार को बैठक होनी है. उस बैठक में परिषद को केंद्र सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों को ध्यान में रखते हुए एक फैसला करना है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here