ईरान की पाकिस्तान को धमकी: अगर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की हम पाकिस्तान में घुसकर उनका खात्मा करेंगे।

ईरान ने पाकिस्तान को धमकी दी है कि अगर उन्होंने अपने यहां पल रहे आतंकियों के खिलाफ कारगर कार्रवाई नहीं की तो वो पाकिस्तान में घुसकर उन दहशतगर्दों का खात्मा कर देंगे।

0
366

आतंकियों (Terrorists) को सुरक्षित पनाह देने वाला पाकिस्तान (Pakistan) भारत, ईरान, अफगानिस्तान और अमेरिका सहित कई देशों के लिए खतरा बन चुका है। ईरान (Iran) ने पाकिस्तान को धमकी दी है कि अगर उन्होंने अपने यहां पल रहे आतंकियों के खिलाफ कारगर कार्रवाई नहीं की तो वो पाकिस्तान में घुसकर उन दहशतगर्दों का खात्मा कर देंगे। भारत समेत ये तमाम देश पाकिस्तान को उसकी जमीन पर मौजूद आतंकी संगठनों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करने के लिए आगाह करते रहे हैं। 13 फरवरी को ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड (Revolutionary Guard) पर और 14 फरवरी को पुलवामा (Pulwama) में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आत्मघाती हमलों से एक बार फिर जाहिर हुआ कि पाकिस्तान अब भी आतंकियों का अड्डा बना हुआ है।

ऐसे में भारत के बालाकोट (Balakot) में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर कार्रवाई करने के बाद ईरान भी पाकिस्तान में पल रहे आतंकियों से निपटने को तैयार है। ईरान के आईआरजीसी (IRGC Quds Force) क़ुद्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) ने पाकिस्तान सरकार और उसके सैन्य प्रतिष्ठान को सख्त शब्दों में चेतावनी दी। उन्होंने कहा, मेरे पास पाकिस्तान सरकार के लिए यह सवाल है कि वह कहां जा रही है। उसने अपने तमाम पड़ोसी देशों की सीमाओं पर अशांति पैदा की है। कोई पड़ोसी नहीं बचा है जिसके लिए पाकिस्तान असुरक्षा को बढ़ावा नहीं देना चाहता।

ईरानी संसद (Irani Parliament) के विदेश नीति आयोग के अध्यक्ष हशमतुल्लाह फलाहतपिशेह ने कहा, तेहरान पाकिस्तान से लगती अपनी सीमा पर दीवार बनाना चाहता है। उन्होंने कहा, पाकिस्तान अगर अपनी जमीन पर आतंकी समूहों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई नहीं करेगा तब ईरान पाकिस्तान में आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करेगा। ईरान की आईआरजीसी कुर्द्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी ने कहा, क्या परमाणु बम रखने वाला पाकिस्तान क्षेत्र में कुछेक सौ सदस्यों वाले आतंकी समूह को तबाह नहीं कर सकता। पाकिस्तान ईरान के इरादे का इम्तहान न ले।

गौरतलब है कि आतंकवाद से सख्ती से निपटने के मुद्दे पर ईरान और भारत एक दूसरे से सहमत हैं और साथ खड़े नजर आ रहे हैं। दरअसल दोनों देश सीमा पार आतंकवाद का सामना कर रहे हैं और हाल के वर्षों में इनके बीच सहयोग में भी बढ़ोतरी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here