रेलवे में कैसा होगा सफर? यात्रियों के लिए क्या हैं दिशा-निर्देश ? जानिये सब कुछ।

भारतीय रेलवे ने यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करते हुए चलने वाली ट्रेनों के संबंध में नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसमें कम से कम डेढ़ घंटे पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना शामिल है।

0
629

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कुछ चुनिंदा मार्गों पर यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करते हुए चलने वाली ट्रेनों के संबंध में नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसमें कम से कम डेढ़ घंटे पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना शामिल है।

12 मई से यात्री ट्रेनों में सवार होने वालों को रेलवे पहले की तरह चादर, तौलिया, सामान्य भोजन, पेय आदि मुहैया नहीं कराएगा। फिलहाल यात्रियों को सिर्फ डिब्बाबंद भोजन और हैंड सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा। 

भारतीय रेल (Indian Railways) का कहना है कि सभी यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। ट्रेनों में सिर्फ वातानुकुलित श्रेणी के डिब्बे होंगे, किराया सामान्य राजधानी ट्रेन के अनुरूप होगा। भारतीय रेल ने अपने यात्रियों को सलाह दी है कि वे अपनी चादर, भोजन और पानी साथ लेकर आएं, क्योंकि यात्रा के दौरान रेलवे उन्हें सिर्फ डिब्बाबंद भोजन देगा, जिसके लिए उन्हें भुगतान करना होगा। 

इसके अतिरिक्त भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने मंगलवार से शुरू हो रही विशेष यात्री ट्रेनों में यात्रा के लिए ‘आरोग्य सेतु एप’ को फोन में डाउनलोड करना ‘अनिवार्य कर दिया है। सोमवार को रेलवे ने इस एप को फोन में रखने की सलाह दी थी, जो कि अनिवार्य नहीं था।

रेल मंत्रालय (Rail Ministry) ने एक ट्वीट में कहा कि, ‘भारतीय रेलवे कुछ यात्री ट्रेन सेवा शुरू करने जा रही है। यात्रा शुरू करने से पहले यात्रियों के लिए फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा।’ सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और मुख्य मंत्रियों की बैठक के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक औपचारिक संदेश में इसे अनिवार्य बना दिया। जिन यात्रियों के फोन में यह एप नहीं होगा, उन्हें स्टेशन पहुंचने के बाद इसे डाउनलोड करने के लिए कहा जा सकता है।

मालूम हो कि आरोग्य सेतु एप (Aarogya Setu App) को अब तक 9.8 करोड़ स्मार्टफोन में डाउनलोड किया जा चुका है। इसका इस्तेमाल सरकार द्वारा संक्रमण के मामलों में संपर्क का पता लगाने और उपयोगकर्ताओं को चिकित्सीय सलाह देने में किया जा रहा है। गृह मंत्रालय ने कोविड-19 संक्रमण की अधिकता वाले क्षेत्र में भी इस एप को डाउनलोड करना जरूरी बताया है।

सार्वजनिक परिवहन का कहना है कि इन ट्रेनों में अग्रिम आरक्षण अधिकतम सात दिन के लिए होगा, फिलहाल आरएसी और वेटिंग टिकट जारी नहीं होगी, ट्रेन में टीटीई को किसी की टिकट बनाने की अनुमति नहीं होगी। भारतीय रेल ने टिकटें रद्द कराने का भी विकल्प दिया है। 

इस संबंध में उसका कहना है कि यात्री ट्रेन के प्रस्थान से 24 घंटे पहले तक टिकट रद्द करा सकते हैं लेकिन टिकट रद्द होने पर कुल किराए का 50 फीसदी शुल्क के रूप में काट लिया जाएगा। गौरतलब है कि उक्त विशेष ट्रेनें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से चलेंगी। 

बुकिंग सिर्फ IRCTC की वेबसाइट के जरिए की जा सकती है। आरक्षण के दौरान प्राप्त टिकटों पर ‘क्या करें और क्या ना करें’ स्पष्ट रूप से लिखा होगा। सिर्फ वैध आरक्षित टिकटधारकों को रेलवे स्टेशन में प्रवेश की अनुमति होगी। यात्रियों के लिए प्रस्थान बिंदु पर मास्क पहनना और स्वास्थ्य जांच अनिवार्य होगी, सिर्फ उन्हीं लोगों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी जिनमें वायरस से संक्रमण के कोई लक्षण नजर नहीं आएंगे। यात्रा के दौरान ट्रेन बेहद कम स्टेशनों पर रुकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here