सरकार NRC पर पीछे नहीं हटी; रणनीति के तहत रुकी – प्रशांत किशोर

प्रशांत किशोर ने सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर कहा कि सरकार का दावा, अभी सिर्फ इस पर ब्रेक है, मगर पूरी तरह से फुल स्टॉप नहीं है।

0
456

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का लगातार मुखर विरोध करने वाले जनता दल यूनाइटेड (JDU) के उपाध्यक्ष और रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने एक बार फिर से सरकार पर हमला बोला है। अपने सहयोगी पार्टी BJP की अगुवाई वाली सरकार के उस दावे पर सवाल उठाया है, जिसमें कहा गया था कि ‘अभी तो NRC पर कोई चर्चा ही नहीं हुई है’। प्रशांत किशोर ने गुरुवार की सुबह फिर CAA और NRC के मुद्दे पर Tweet किया और कहा कि सरकार का दावा, अभी सिर्फ इस पर ब्रेक है, मगर पूरी तरह से फुल स्टॉप नहीं है।

नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ अक्रामक रवैया रखने वाले राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने Tweet कर कहा, – अभी तो एनआरसी की चर्चा नहीं हुई है का दावा करना सिर्फ एक कोशिश है कि CAA-NRC पर जो प्रदर्शन हो रहा है, उसे रोका जाए। मगर ये सिर्फ एक ब्रेक है, फुल स्टॉप नहीं।’

प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने आगे कहा कि नागरिकता संशोधन एक्ट पर सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार कर सकती है। अदालत से पक्ष में फैसला आने के बाद एक बार फिर से यह पूरी प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। बता दें कि प्रशांत किशोर एनआरसी को लेकर स्पष्ट कह चुके हैं कि बिहार में वह और उनकी सरकार इसे लागू नहीं होने देगी।

गौरतलब है कि प्रशांत किशोर का यह Tweet उस बयान पर है, जिसमें कुछ दिनों पर पीएम नरेंद्र मोदी ने रामलीला मैदान में कहा था कि सरकार ने एनआरसी को लेकर अभी तक किसी तरह की चर्चा ही नहीं की है।

मंगलवार की सुबह प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर राहुल गांधी को शुक्रिया कहा था और लिखा- ‘CAA और NRC के खिलाफ आंदोलन में शामिल होने के लिए आपका शुक्रिया राहुल गांधी जी। मगर आप जानते हैं कि जन आंदोलन के आलावा हमें ऐसे राज्यों की जरूरत है, जो कि एनआरसी को रोकने के लिए उसे ‘ना’ कह सके। हमें उम्मीद है कि आप कांग्रेस पार्टी को सहमत करेंगे कि जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है, वे आधाकारिक तौर पर एनआरसी लागू नहीं करने का ऐलान करेंगे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here