विदेश मंत्रालय-पाकिस्तान को दूसरे देशों के आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करना चाहिए।

विदेश मंत्रालय (MEA) के प्रवक्ता रवीश कुमार (Raveesh Kumar) ने कहा कि पाकिस्तान को लगता है कि कश्मीर में विकास की दिशा में उठाया गया क़दम उसके आतंक की दुकान बंद कर देगा

0
807

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 (Article 370) हटाये जाने के बाद बौखलाये पाकिस्तान (Pakistan) को भारत ने करारा जवाब देते हुए कहा कि पाकिस्तान के सारे फ़ैसले एकतरफ़ा हैं. भारत से कोई कंसल्टेशन नहीं किया गया. पाक ने अलार्मिंग सिचुएशन जताने की कोशिश की. पाक नर्वस है. विदेश मंत्रालय (MEA) के प्रवक्ता रवीश कुमार (Raveesh Kumar) ने कहा कि पाकिस्तान को लगता है कि कश्मीर में विकास की दिशा में उठाया गया क़दम उसके आतंक की दुकान बंद कर देगा. वह भारत के संप्रभु मामलों को ज़बरदस्ती जोड़ने की कोशिश कर रहा है जिसमें वो कहीं भी कामयाब नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि कल रात पीएम मोदी (PM Modi) के संबोधन से भी बहुत बातें साफ़ हो गई हैं.

रवीश कुमार ने कहा कि पाक के UNSC जाने पर हमारी रणनीति का ख़ुलासा यहां नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को सच्चाई स्वीकार कर लेनी चाहिए और दूसरे देशों के आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करे.

उन्होंने कहा, पाक इसे जिस तरह से अंतराष्ट्रीयकरण करने की कोशिश करेगा, हम उस तरह के ज़रूरी क़दम उठाएंगे. उन्होंने कहा कि पाक की तरफ से समझौता एक्सप्रेस रोकना खेदजनक है. आपको बता दें, संसद ने मंगलवार को जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने संबंधी अनुच्छेद 370 के कई प्रावधानों को समाप्त करने के प्रस्ताव वाले संकल्प और जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख में विभाजित करने वाले विधेयक को मंजूरी दे दी. उधर, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करने वाले प्रस्ताव को बुधवार को स्वीकृति प्रदान की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here