जम्मू-कश्मीर डीडीसी चुनाव: 20 जिलों में से छह में गुपकर को और 5 में BJP को बहुमत।

गुपकर गठबंधन ने 110 सीटों पर जीत दर्ज कर पहले डीडीसी चुनाव में जीत का परचम लहराया है। वहीं, 74 सीटें जीतकर बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है।

0
3074

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (DDC) के पहले चुनाव में फारूक अब्दुल्ला नीत सात दलों के गुपकर गठबंधन ने 20 में से छह जिलों में और बीजेपी ने पांच जिलों में बहुमत हासिल कर लिया है। हालांकि, गुपकर गठबंधन को बीजेपी पर छह और जिलों में बढ़त हासिल है, क्योंकि वह उन जिलों में बहुमत से सिर्फ एक या दो सीट दूर है। श्रीनगर और पुंछ जिले में निर्दलीयों के हाथ में सत्ता की चाबी है, क्योंकि इन दोनों जिलों में उन्होंने सात-सात सीटें जीती हैं। पुंछ जिले में एक अन्य सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार आगे चल रहा है, जहां मतगणना चल रही है।

गुपकर गठबंधन ने 110 सीटों पर जीत दर्ज कर पहले डीडीसी चुनाव में जीत का परचम लहराया है। वहीं, 74 सीटें जीतकर बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरी है। भाजपा ने ही राज्य में अधिकतम मत प्रतिशत भी हासिल किया है। उत्तर कश्मीर के बांडीपुरा और कुपवाड़ा जिलों और जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी जिलों की एक-एक सीटों के परिणाम आने अभी बाकी हैं।

केंद्र शासित प्रदेश में डीडीसी की 280 सीटों पर मतदान 28 नवंबर से शुरू होकर आठ चरणों में 19 दिसंबर को पूरा हुआ था और मतगणना मंगलवार सुबह शुरू हुई थी। अगस्त, 2019 में संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त कर जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म किए जाने के बाद प्रदेश में यह पहला चुनाव है। चुनाव में कुल 280 सीटें (जम्मू की 140 और कश्मीर की 140) पर मतदान हुआ। केंद्रशासित क्षेत्र के 20 जिलों में से प्रत्येक में डीडीसी की 14-14 सीटें हैं। जम्मू-कश्मीर चुनाव आयोग ने अभी तक 280 में से 276 सीटों के परिणाम की घोषणा कर दी है। गुपकर गठबंधन और भाजपा के अलावा 49 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों को जीत मिली है। वहीं कांग्रेस को 26, जम्मू एंड कश्मीर अपनी पार्टी (जेकेएपी) को 12, पीडीएफ और नेशनल पैंथर्स पार्टी को दो-दो और बसपा को एक सीट पर जीत मिली है।

कश्मीर घाटी में गुपकर गठबंधन ने कुपवाड़ा में नौ, बडगाम में 10, पुलवामा में नौ, अनंतनाग तथा कुलगाम में 12-12 और गांदरबल में 11 सीटों पर जीत दर्ज पूर्ण बहुमत हासिल किया है। वहीं, बारामुला, शोपियां और बांडीपुरा जिलों में स्पष्ट बहुमत से वह केवल एक सीट दूर है। वहीं, श्रीनगर जिले में गुपकर गठबंधन और अपनी पार्टी ने तीन-तीन सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि भाजपा यहां एक सीट ही अपने नाम कर पाई, बाकी सात सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है।

जम्मू संभाग में भाजपा ने कठुआ तथा सांबा में 13-13, जम्मू तथा उधमपुर में 11-11 और डोडा में आठ सीटों पर जीत दर्ज कर बहुमत हासिल की है। वहीं, रियासी में वह सात सीटों पर जीत हासिल कर गुपकर गठबंधन से आगे चल रही है, जिसने यहां तीन सीटों पर जीत दर्ज की है। अपनी पार्टी ने यहां दो, कांग्रेस ने एक सीट अपने नाम की और एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार के खाते में गई है। जम्मू संभाग में चेनाब घाटी क्षेत्र में गुपकर गठबंधन ने रामबन और किश्तवाड़ में छह सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं, राजौरी जिले के पीर पंजाल रेंज में भी उसे छह सीटों पर जीत मिली है।

गुपकर गठबंधन जहां-जहां बहुमत हासिल करने से चूक गया है, उन सभी जिलों में कांग्रेस ने सीटें हासिल की हैं और ऐसे में डीडीसी के गठन में उसकी अहम भूमिका हो सकती है। पुंछ जिले में कांग्रेस ने चार सीटों पर जीत दर्ज की है जबकि नेशनल कॉन्फ्रेंस ने दो और सात अन्य सीटें निर्दलीय के खाते में गई है। एक अन्य सीट के नतीजे का इंतजार है जबकि वहां से निर्दलीय उम्मीदवार बढ़त बनाए हुए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here