कर्नाटक के कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायक पहुंचे सुप्रीम कोर्ट।

कर्नाटक के कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए हैं. सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों ने कहा कि वो मामले की सुनवाई आज या कल चाहते है.

0
462

कर्नाटक के कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायक सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पहुंच गए हैं. सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों ने कहा कि वो मामले की सुनवाई आज या कल चाहते है. मामले की सुनवाई के दौरान बागी विधायकों की तरफ से वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि स्पीकर अपने दायित्य का पालन नहीं कर रहे है. कर्नाटक में इस समय अजीब परिस्थिति है. हमें जनता के पास दोबारा भी जाना है. सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों ने कहा कि वो मामले की सुनवाई आज या कल चाहते है. चीफ जस्टिस ने कहा कि हम देखेंगे कि कब सुना जाए.

सूत्रों के मुताबिक विधानसभा स्पीकर पर अपना संवैधानिक दायित्व ना निभाने और उनके इस्तीफे को मंजूर करने में देरी करने का आरोप इन विधायकों ने लगाया है. साथ ही सूत्रों ने बताया कि विधायक इस मामले को लेकर CJI रंजन गोगोई (Ranjan Gogoi) के सामने मेंशन भी करेंगे. विधायकों का कहना है कि राजनीतिक उद्देश्य के चलते स्पीकर उनके इस्तीफे को मंजूर नहीं कर रहे हैं और अल्पमत में आ चुकी जेडीएस-कांग्रेस सरकार को बचाने की कोशिश कर रहे हैं.

ये अर्जी पिछले साल 2018 के कर्नाटक विवाद के मामले में दाखिल की जाएगी, जिसमें राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया था. इस याचिका को कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. सुप्रीम कोर्ट में वो मामला लंबित है.

बता दें, कर्नाटक की राजनीति में उठापटक जारी है. इस बीच कर्नाटक कांग्रेस के मंत्री डीके शिवकुमार (DK ShivaKumar) और जेडीएस विधायक शिवालिंगे गौड़ा (Shivalinge Gowda) बुधवार को स्पेशल फ्लाइट से बेंगलुरु से मुंबई पहुंचे. दोनों नेता बागी विधायकों से मुलाकात करने के लिए मुंबई पहुंचे हैं.

हालांकि मुंबई के जिस होटल में बागी विधायक रुके हैं वहां की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. होटल के बाहर महाराष्ट्र स्टेट रिजर्व पुलिस फोर्स और दंगा कंट्रोल करने के लिए फोर्स की तैनाती की गई है. वहीं होटल के बाहर तैनात भारी पुलिस बल के सवाल पर कांग्रेस नेता शिवकुमार ने बयान दिया है.

शिवकुमार ने ANI से कहा, ‘मुंबई पुलिस और बाकी बलों को तैनात होने दें, उन्हें उनकी ड्यूटी करने दें. हम अपने मित्रों से मिलने आए हैं. राजनीति में हमारा जन्म साथ में हुआ था और राजनीति में हम साथ में ही मरेंगे. वे हमारी पार्टी के सदस्य हैं. हम उनसे मिलने आएं हैं.’

साथ ही डीके शिवकुमार ने कहा, ‘मैंने यहां एक कमरा बुक किया है. मेरे दोस्त यहां रुके हुए हैं. एक छोटी सी समस्या हो गई है, हम बातचीत करेंगे. धमकी देने का कोई सवाल नहीं है, हम एक दूसरे से प्यार करते हैं और सम्मान करते हैं.’ होटल के बाहर रोके जाने पर डीके शिवकुमार ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि मेरे पास कोई हथियार नहीं हैं. मुझे अंदर क्यों नही जाने दिया जा रहा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here