कर्नाटक में भी बाढ़ का कहर, कोडागू में भारी बारिश के बाद 3,500 लोगों का रेस्क्यू

0
358

केरल में भारी बारिश और बाढ़ से बर्बादी के बाद अब कर्नाटक में बाढ़ से बुरा हाल है। भारी बारिश से कर्नाटक के कोडागू जिले में जनजीवन पर असर पड़ा है। इस बीच सोमवार को एक बार फिर कोडागू में भारी बारिश शुरू हो गई है, जिससे हालात और बिगड़ सकते हैं। वहीं सकलेशपुर- मेंगलुरु रेलवे ट्रैक पर लैंडस्लाइड की वजह से ट्रेनों की आवाजाही ठप है। यहां तेजी से ट्रैक को दुरुस्त करने का काम चल रहा है। बारिश के कहर से राज्य में 1200 से ज्यादा मकान तबाह हो गए हैं।

बाढ़ग्रस्त कोडागू जिले में करीब 3,500 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है। राज्य सरकार का कहना है कि लगातार बारिश की वजह से राहत कार्यों में बाधा आ रही है। मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी के कार्यालय द्वारा एक बयान जारी कर कहा गया, ‘सेना, नौसेना और अन्य राज्य व केंद्रीय एजेंसियों ने अभी तक 3,500 से ज्यादा लोगों को बचाया है।

इस बाढ़ग्रस्त पहाड़ी जिले में सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं। रविवार दोपहर बाद तक बचाए गए 3,500 लोगों को 30 राहत शिविरों में स्थानांतरित कर दिया गया है और पहाड़ियों पर फंसे अन्य लोगों तक मदद के लिए पहुंच बनाई जा रही है। पश्चिमी घाट पहाड़ी श्रृंखला पर स्थित यह कॉफी उत्पादक जिला जून के पहले सप्ताह से दक्षिण पश्चिमी मॉनसून की बारिश से प्रभावित है।

लगातार बारिश से क्षेत्र में बाढ़ और भूस्खलन हो रहा है, जिससे मुख्य मार्गों को काफी नुकसान हुआ है। सकलेशपुर-मेंगलुरु रेलवे ट्रैक पर भारिश बारिश और भूस्खलन की वजह से ट्रेनों की आवाजाही बाधित है। यहां रेल यातायात को बहाल करने के लिए तेजी से अभियान चलाया जा रहा है।
डोगरा रेजिमेंट के लगभग 60 सैनिक, नौसेना के 12 गोताखोर, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल NDRF के अधिकारी, 525 अग्निशमन कर्मी और होम गार्ड बचाव कार्यों में लगे हुए हैं। साथ ही राज्य और केंद्रीय एजेंसियों के कुल एक हजार से अधिक बचावकर्ता बचाव अभियान में लगे हुए हैं।

दरअसल कावेरी की सहायक नदियों में से एक हरंगी नदी के पास जिले में हरंगी जलाशयों से पानी छोड़ा जा रहा है, जिसके कारण इस क्षेत्र के कस्बों और गांवों में जलस्तर बढ़ रहा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक पिछले 24 घंटों में जिले में 5.4 सेंटीमीटर की औसत वर्षा दर्ज की गई है, जबकि जिले के कुछ हिस्सों में 11.5 सेंटीमीटर तक बारिश हुई है।

राजस्व मंत्री आरवी देशपांडे बचाव और राहत कार्यों की निगरानी कर रहे हैं। राज्य सरकार के स्वामित्व वाले कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम (केएसआरटीसी) ने रविवार को कोडागू व मेंगलुरु और केरल की ओर अपनी सभी अंतरराज्यीय सेवाओं को फिर से शुरू कर दिया है।

निरंजन कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here