पुलिस के साथ झड़प में कई किसान घायल. यह गलत है, हम किसानों के साथ है-केजरीवाल

0
372

New Delhi: कर्ज माफी और बिजली के दाम घटाने जैसी मांगों को लेकर किसान क्रांति पदयात्रा में शामिल किसानों ने 23 सितंबर को हरिद्वार से दिल्ली के लिए कूच किया था. ये किसान मंगलवार को गांधी जयंती पर राजघाट से संसद तक विरोध मार्च करने की तैयारी में हैं. लिहाज़ा राजघाट और संसद के आस-पास भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है. भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों की इस यात्रा को देखते हुए दिल्ली की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है. जगह-जगह नाकेबंदी की गई है. कई इलाक़ों में धारा 144 लगा दी गई है. दिल्ली ट्रैफ़िक पुलिस ने एडवाइज़री भी जारी की है, जिसमें कई इलाक़ों में जाने से बचने की सलाह दी गई है. किसान क्रांति यात्रा के मद्देनज़र पूर्वी और उत्तर पूर्वी दिल्ली में कई जगहों पर धारा 144 लागू कर दी गई है यानी 5 से ज़्यादा लोगों के एक साथ खड़े होने पर – दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि किसानों को दिल्ली में घुसने से क्यों रोका जा रहा है, यह गलत है, हम किसानों के साथ हैं 

– भारतीय किसान संघ के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने कहा कि हमें यहां क्यों रोक दिया गया है (यूपी-दिल्ली सीमा पर)? रैली एक अनुशासित तरीके से आगे बढ़ रही थी. अगर हम अपनी सरकार को हमारी समस्याओं के बारे में नहीं बता सकते तो हम किससे कहेंगे? क्या हम पाकिस्तान या बांग्लादेश जाए?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here