लोक सभा चुनाव: अनुपम खेर की नाराज़गी पर सोनी राज़दान और स्वरा भास्कर का पलट वार.

अनुपम खेर उन सेलेब्रिटीज़ में शामिल हैं, जो खुलकर नरेंद्र मोदी सरकार का समर्थन करते रहे हैं और अपनी बात मुखरता के साथ रखते रहे हैं।

0
361

लोक सभा चुनाव (Lok Sabha Election) में कुछ दिन ही बाक़ी रह गये हैं और सियासत पूरे शबाब पर है। आलम यह है कि बॉलीवुड पर भी सियासी रंग चढ़ा हुआ है और सेलेब्रिटीज़ अपने-अपने हिसाब और पसंद से विभिन्न राजनीतिक दल और नेताओं को सपोर्ट कर रहे हैं और इसकी धमक सोशल मीडिया में ज़ोर शोर से सुनाई दे रही है।

हाल ही में थिएटर और सिनेमा से जुड़े 100 से अधिक कलाकारों ने जनता के नाम एक खुला पत्र लिखकर बीजेपी (BJP) को वोट ना देने की अपील की है, जिस पर अनुपम खेर (Anupam Kher) ने कड़ा एतराज़ जताया। उन्होंने Twitter पर लिखा- मेरे समुदाय के कई लोगों ने संवैधानिक रूप से चुनी गयी सरकार को आने वाले चुनाव में वोट ना देने की अपील की है। दूसरे शब्दों में वे लोग विपक्ष के समर्थन में कैम्पेन कर रहे हैं। अच्छा है। कम से कम यहां तो कोई लागलपेट नज़र नहीं आ रहा। बढ़िया है। इसके साथ अनुपम खेर ने भारत माता की जय लिखा हुआ अपना एक वीडियो पोस्ट किया है।

वेटरन एक्ट्रेस सोनी राज़दान (Soni Razdan) ने अनुपम खेर के Tweet पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा- अनुपम, अगर आप मौजूदा सरकार से सहमत हो सकते हैं तो आपको क्यों लगता है कि दूसरे कुछ अलग कर रहे हैं। सोनी को जवाब देते हुए अनुपम खेर ने लिखा- प्रिय सोनी, यह सिर्फ़ ऑब्ज़र्वेशन था। कोई शिकायत नहीं।

अनुपम खेर के Tweet के जवाब में स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) ने लिखा है- जी हां, इसे डेमोक्रेसी कहा जाता है सर। स्वरा को जवाब देते हुए अनुपम खेर ने लिखा, सहमत हूं, अगर दूसरों के ऐसा करने पर इसे असहिष्णुता ना कहा जाए। 

अनुपम खेर (Anupam Kher) उन सेलेब्रिटीज़ में शामिल हैं, जो खुलकर नरेंद्र मोदी सरकार का समर्थन करते रहे हैं और अपनी बात मुखरता के साथ रखते रहे हैं। बताते चलें कि जिन कलाकारों और फ़िल्मकारों ने मोदी सरकार को वोट ना देने की अपील का लेटर साइन किया है, उनमें विशाल भारद्वाज, इम्तियाज़ अली, नंदिता दास, गोविंद निहलानी, सईद मिर्ज़ा, ज़ोया अख़्तर, कबीर ख़ान, महेश भट्ट, शुभा मुदगल और अदिति राव हैदरी भी शामिल हैं। इस बारे में बात करते हुए नंदिता दास ने कहा था कि सिर्फ़ मोदी सरकार ही नहीं, उन लोगों ने ऐसे सभी राजनीतिक दलों के पक्ष में मतदान ना करने की अपील की है, जो सम्प्रदायक आधार पर लोगों को बांटने की राजनीति करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here