1st Phase Polling: आज किन दिग्गजों की प्रतिष्ठा लगी है दांव पर ?

बीजेपी सरकार जहां सत्ता में वापसी की पुरजोर कोशिश में है, वहीं कांग्रेस वापसी की राह को मुश्किल बनाने में जुटी हुई है.

0
176

17 वीं लोकसभा के चुनाव के लिए मतदान का सिलसिला गुरुवार से शुरू हो गया. पहले चरण में आज 14 करोड़ मतदाता कुल 91 सीटों पर चुनाव लड़ रहे 1279 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. ईवीएम की बटन दबाने के साथ प्रत्याशियों की किस्मत उसमें कैद हो जाएगी, जो 23 मई को मतगणना के बाद खुलेगी. 20 राज्यों की 91 सीटों पर पहले चरण का मतदान होगा. सख्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान की व्यवस्था है.

बीजेपी सरकार जहां सत्ता में वापसी की पुरजोर कोशिश में है, वहीं कांग्रेस वापसी की राह को मुश्किल बनाने में जुटी हुई है. विपक्ष जहां लोकतंत्र बचाने की अपील के साथ चुनाव में डटा है तो बीजेपी राष्ट्रवाद और विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ रही है. आइए जानते हैं पहले चरण में किन सीटों पर बड़े-बड़े दिग्गज मैदान में हैं, जिनकी प्रतिष्ठा दांव पर लगी है.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी
नागपुर में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी चुनाव लड़ रहे हैं. उनके मुकाबले कांग्रेस उम्मीदवार नाना पटोले चुनाव में खड़े हैं. यह वही नाना पटोले हैं, जिन्होंने 2014 में बीजेपी के टिकट पर प्रफुल्ल पटेल जैसे दिग्गज को हराकर चर्चा बटोरी थी. हालांकि बीजेपी से रिश्ते खराब होने पर वह अब कांग्रेस में शामिल हो गए.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू
पूर्वोत्तर की बात करें तो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू अरुणाचल पश्चिम सीट से मैदान में हैं. उनके मुकाबले कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री नबाम तुकी को चुनाव मैदान में उतारा है. 2014 में इस सीट पर रिजिजू 41,738 मतों से जीते थे.

राष्ट्रीय लोक दल के मुखिया चौधरी अजित सिंह
सांप्रदायिक लिहाज से संवेदनशील मानी जाने वाली मुजफ्फरनगर सीट से बीजेपी सांसद संजीव बालयान मैदान में है. उनके मुकाबले राष्ट्रीय लोक दल के मुखिया चौधरी अजित सिंह ताल ठोक रहे हैं.2014 में लोकसभा चुनाव से पहले मुजफ्फरनगर दंगों की आंच में झुलसा था. जिसमें छह लोग मारे गए थे और 50 हजार से ज्यादा परिवार विस्थापित हुए थे. यह दंगा सितंबर 2013 में हुआ था. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के संजीव बालयान ने बसपा के कादिर राणा को चार लाख वोटों से हराया था.

केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह
केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह रिटायर्ड आईपीएस अफसर हैं. बागपत लोकसभा सीट से उनके मुकाबले रालोद मुखिया अजित सिंह के बेटे जयंत सिंह चुनाव लड़ रहे हैं. बागपत लोकसभा सीट चौधरी परिवार का गढ़ मानी जाती रही है. मगर 2014 के लोकसभा चुनाव में सत्यपाल सिंह यहां से चुनाव जीतने में सफल रहे थे.

केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा
उत्तर प्रदेश की गौतम बुद्ध नगर सीट से एक बार फिर से केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ सपा-बसपा गठबंधन ने सतवीर नागर को टिकट दिया है. जबकि कांग्रेस ने अरविंद सिंह को यहां से चुनाव मैदान में उतारा है.

विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह
पूर्व सेना प्रमुख और विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह लगातार दूसरी बार गाजियाबाद से चुनाव मैदान में हैं. उनके मुकाबले कांग्रेस से डाली शर्मा और सपा-बसपा गठबंधन से सुरेश बंसल चुनाव लड़ रहे हैं. रालोद और आम आदमी पार्टी ने भी गठबंधन उम्मीदवार को समर्थन दिया है.

केद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर
केद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर महाराष्ट्र के चंदरपुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ कांग्रेस से सुरेश नारायण धनोरकर मैदान में हैं. धनोरकर ने पिछले साल शिवसेना छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया था.

पूर्व केंद्रीय मंत्री अशोक गणपति राजू
टीडीपी नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री अशोक गणपति राजू विजयनगर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. उनके खिलाफ वाईएसआर कांग्रेस से चंद्र शेखर मैदान में हैं.2009 में गठित इस लोकसभा सीट से 2014 में अशोक गणपति राजू चुने गए थे.

मुकुल संगमा vs अगाथा संगमा
पूर्व मुख्यमत्री और कांग्रेस नेता मुकुल संगमा मेघालय की तुरा लोकसभा सीट से किस्मत आजमा रहे हैं.यहां त्रिकोणीय मुकाबले के आसार हैं. यहां उनका मुकाबला एनपीपी उम्मीदवार अगाथा के संगमा और भाजपा कंडीडेट रिकमान जी. मोमिन चुनाव लड़ रहे हैं.

लोजपा नेता चिराग पासवान
बिहार के जमुई सीट से लोजपा नेता चिराग पासवान चुनाव लड़ रहे हैं.यहां उनका मुकाबलपा रालोसपा नेता भूदेव चौधरी से है. 2008 में परसीमत के बाद अस्तित्व में आई इस सीट से 2009 के लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करन के बाद भूदेव चौधरी यहां के पहले सांसद बने. 2014 के लोकसभा चुनाव में चिराग जीत दर्ज करने में सफल रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here