ममता बनर्जी – देश बंदूक और गौरक्षकों के बल पर नहीं चल सकता।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि देश बंदूक और गौरक्षकों के बल पर नहीं चल सकता है।

0
125

कोलकाता के पुलिस कमिश्नर (Kolkata Police Commissioner) राजीव कुमार (Rajeev Kumar) को लेकर मंगलवार को आए सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के ऑर्डर पर पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि देश बंदूक और गौरक्षकों के बल पर नहीं चल सकता है।
ममता बनर्जी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को अपनी ‘नैतिक जीत’ (Moral Victory) बताया जिसमें जांच के दौरान कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार की गिरफ्तारी समेत कोई भी दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने का निर्देश दिया गया है।
ममता बनर्जी ने मध्य कोलकाता में धरना स्थल पर संवाददाताओं से कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश आम आदमी, लोकतंत्र एवं संविधान की जीत है। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘इसके पीछे जरूर कोई कहानी है। कोई भी मोदी (PM Modi) के खिलाफ बोलने की हिम्मत नहीं कर सकता। यह हमारा जन आंदोलन है और हम एकजुट होकर इसे लड़ेंगे।’
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, हम हमेशा कानून का सम्मान करते हैं और मानते हैं कि चीजें कानून के मुताबिक होनी चाहिए। लेकिन अगर कोई लोकतंत्र के स्तंभों को बर्बाद करने का प्रयास करेगा तो लोकतांत्रिक प्रक्रिया के नाम पर कुछ नहीं बचेगा जिसपर हम गर्व करते हैं।
उन्होंने कहा, ‘हम उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हैं। यह बिलकुल सही है। हमारा मामला बहुत मजबूत है। हमने कभी नहीं कहा कि हम सहयोग नहीं करेंगे। यह राजनीतिक बदला है।’
समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव, तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू, द्रमुक की कनिमोई, राजद के तेजस्वी यादव समेत कई विपक्षी नेताओं ने बनर्जी के प्रदर्शन को समर्थन दिया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here