मिशन शक्ति: वैज्ञानिकों का विश्व को संदेश ‘हम किसी से कम नहीं’

भारत ने अंतरिक्ष में एंटी मिसाइल (Anti Missile) से एक लाइव सैटेलाइट (Live Satellite) को मार गिराते हुए आज अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के तौर पर दर्ज कराया

0
474

Mission Shakti: भारत ने अंतरिक्ष में एंटी मिसाइल (Anti Missile) से एक लाइव सैटेलाइट (Live Satellite) को मार गिराते हुए आज अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के तौर पर दर्ज कराया और ऐसी क्षमता हासिल करने वाला दुनिया का चौथा देश बन गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने ‘मिशन शक्ति’ को लेकर राष्ट्र को संबोधित करने के तुरंत बाद इस सफल अभियान के संचालन में शामिल वैज्ञानिकों से विडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बातचीत की और उन्हें बधाई दी। प्रधानमंत्री ने इस सफलता पर वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए कहा कि निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए पूरा देश अपने वैज्ञानिकों पर गर्व कर रहा है।

मोदी ने कहा कि ‘मिशन शक्ति’ (Mission Shakti) के सफल परीक्षण से भारत उपग्रह रोधी प्रक्षेपास्त्र के माध्यम से उपग्रहों को सफलतापूर्वक निशाना बनाने की क्षमता वाला विश्व का चौथा देश बन गया है। प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, मोदी ने कहा, ”मेक-इन इंडिया पहल के अनुरूप वैज्ञानिकों ने विश्व को यह संदेश दिया है कि हम किसी से कम नहीं हैं।” उन्होंने कहा कि भारत वसुधैव कुटुंबकम के दर्शन का अनुसरण करता है। इसके अनुसार पूरा विश्व एक परिवार है।

उन्होंने इस बात पर बल दिया कि शांति और सद्भाव के लिए काम करने वाली शक्तियों को शांति की प्राप्ति के लिए हमेशा शक्ति संपन्न बने रहना होगा। प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि वैश्विक शांति और क्षेत्रीय शांति के लिए भारत को सक्षम और मजबूत बनना पड़ेगा। मोदी ने कहा कि इस प्रयास में वैज्ञानिकों ने समर्पण के साथ योगदान दिया है। उन्होंने केन्द्रीय मंत्रिमंडल की ओर से वैज्ञानिकों को बधाई दी। बयान में कहा गया है कि वैज्ञानिकों ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया।
प्रधानमंत्री ने कहा, ”हमारे वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में 300 किमी दूर पृथ्वी की निचली कक्षा (एलईओ) में एक लाइव सैटेलाइट को मार गिराया है। यह लाइव सैटेलाइट एक पूर्व निर्धारित लक्ष्य था, जिसे एंटी सैटेलाइट द्वारा मार गिराया गया है। यह अभियान तीन मिनट में सफलतापूर्वक पूरा किया गया है।” इस अभियान से जुड़े वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत अंतरिक्ष में निचली कक्षा में लाइव सैटेलाइट को मार गिराने की क्षमता रखने वाला चौथा देश बन गया है। अब तक यह क्षमता अमेरिका, रूस और चीन के ही पास थी।

इससे पहले राष्ट्र के नाम संदेश में प्रधानमंत्री ने कहा ”हर राष्ट्र की विकास यात्रा में कुछ ऐसे पल आते हैं जो उसके लिए अत्यधिक गौरव वाले होते हैं और आने वाली पीढ़ियों पर उनका असर होता है। आज कुछ ऐसा ही समय है।” मोदी ने कहा, ”मिशन शक्ति के तहत भारत ने स्वदेशी एंटी सैटेलाइट मिसाइल ‘ए..सैट से तीन मिनट में एक लाइव सैटेलाइट को सफलतापूर्वक मार गिराया।” उन्होंने बाद में ट्वीट किया, ”मिशन शक्ति की सफलता के लिए हर किसी को बधाई।”

मोदी ने कहा कि हमने जो नई क्षमता हासिल की है, यह किसी के विरूद्ध नहीं है बल्कि तेज गति से बढ़ रहे हिन्दुस्तान की रक्षात्मक पहल है। उन्होंने वैज्ञानिकों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी और उनकी सराहना भी की। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि इससे किसी अंतरराष्ट्रीय कानून या संधि का उल्लंघन नहीं हुआ है। भारत हमेशा से अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ के विरुद्ध रहा है और इससे (उपग्रह मार गिराने से) देश की इस नीति में कोई परिवर्तन नहीं आया है।

मोदी ने कहा कि ‘मिशन शक्ति’ एक अत्यंत जटिल ऑपरेशन था जिसमें उच्च कोटि की तकनीकी क्षमता की आवश्यकता थी। वैज्ञानिकों द्वारा निर्धारित सभी लक्ष्य और उद्देश्य प्राप्त कर लिए गये हैं। सभी भारतीयों के लिए यह गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की अगुवाई में चलाये गये ‘मिशन शक्ति का उद्देश्य भारत की संपूर्ण सुरक्षा को मजबूत करना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here