मानसून ने केरल के तट पर दी दस्‍तक

Monsoon केरल के तट से टकरा गया है। मौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार मानसून की बारिश करीब 93 प्रतिशत रहेगी जो औसत से कम है।

0
84

Monsoon केरल (Kerala) के तट से टकरा गया है। लगभग एक सप्‍ताह की देरी से आए मानसून के केरल के तट से टकराते ही देश में चार महीने की वर्षा के मौसम की आधिकारिक शुरुआत हो गई है।

मौसम विभाग (Meteorological Department) का अनुमान है कि इस बार मानसून की बारिश करीब 93 प्रतिशत रहेगी जो औसत से कम है। भारतीय मौसम विभाग 96 से 104 प्रतिशत बारिश को औसत या सामान्य मानता है। इसकी गणना वह जून से प्रारंभ होने वाले चार महीनों में पिछले 50 साल की औसत 89 सेंटीमीटर बारिश से करता है।

बताया गया कि दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में मानसून पहुंचने की सामान्य तिथियां जून के आखिरी हफ्ते में पड़ती हैं। लेकिन इस बार यह करीब 10-15 दिन की देरी से यहां पहुंचेगा।

मौसम विभाग के मुताबिक, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा जैसे स्थानों पर आज बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। असम, मेघालय, केरल और प.बंगाल में भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग की साइंटिस्ट सुनीता देवी ने बताया कि केरल में आज मानसून आ गया। हम उम्मीद कर रहे हैं कि अगले 48 घंटों में यह लक्षद्वीप और केरल के बाकी हिस्सों के साथ-साथ तमिलनाडु में भी आगे बढ़ेगा।

इस समय पूरा देश गर्मी की मार झेल रहा है। तापमान में लगातार हो रही बढ़ोतरी से लोग परेशान है। दिन हो या रात लोग सिर्फ अच्छे-सुहाने मौसम की तलाश में हैं, जिससे की उन्हें इस भीषण गर्मी से निजात मिल सकें। बताया गया कि इस बार देश में मानसून 7 जुलाई के बाद पहुंच जाएगा। वहीं, अब नई अपडेट के अनुसार, अगले 24 घंटों के भीतर देश में दस्तक देगा मानसून।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here