COVID-19: AIIMS और सफदरजंग अस्पताल में 80 से अधिक डाक्टर संक्रमित

Coronavirus के चलते AIIMS के तकरीबन 50 डाक्टर आइसोलेशन में भेजे गए हैं, तो दिल्ली के अन्य अस्पताल सफदरजंग (Safdarjung Hospital) के 6 डाक्टर भी संक्रमित हैं।

0
581

देश की राजधानी दिल्ली में तेज रफ्तार गति से बढ़ रहा ओमिक्रोन (Omicron) वैरिएंट अब डाक्टरों को भी अपनी चपेट में ले रहा है। दिल्ली के कई अस्पतालों के डाक्टर कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के चलते देश की सबसे बड़े अस्पताल AIIMS के तकरीबन 50 डाक्टर आइसोलेशन में भेजे गए हैं, तो दिल्ली के अन्य अस्पताल सफदरजंग (Safdarjung Hospital) के 6 डाक्टर भी संक्रमित हैं। एक सप्ताह के दौरान सफदरजंग अस्पताल के 23 डाक्टर कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।इस बीच दिल्ली एम्स ने बढ़ते कोविड मामलों के बीच मंगलवार को एक अहम निर्णय लेते हुए डाक्टरों की शीतकालीन छुट्टी रद करने की घोषणा की है।

इस कड़ी में सोमवार को जारी एक नोटिस में एम्स दिल्ली ने सभी संकाय सदस्यों को शामिल होने का निर्देश दिया है। इस सूचना के अनुसार, 22 और 27 दिसम्बर के कार्यालय ज्ञापन के क्रम में यह सूचित किया गया है कि 10 जनवरी तक शीतकालीन अवकाश के शेष भाग को निरस्त करने का निर्णय लिया है। एम्स के निदेशक की मंजूरी के साथ अस्पताल प्रशासन द्वारा जारी नोटिस में कहा गया है कि COVID-19 और ओमिक्रोन महामारी चल रही है।

कोरोना के मामले बढ़ने के साथ अस्पतालों में मरीज भी बढ़ रहे हैं। अस्पतालों में एक दिन पहले तक 307 मरीज भर्ती थे। अब मौजूदा समय में 420 मरीज भर्ती हैं। लिहाजा, 24 घंटे में अस्पतालों में एक तिहाई से ज्यादा (36.80 प्रतिशत) मरीज बढ़े हैं। इनमें से 66 कोरोना के संदिग्ध व 354 कोरोना पाजिटिव मरीज हैं। जिसमें 12 मरीज एयरपोर्ट से अस्पतालों में भर्ती किए गए हैं। 342 अन्य कोरोना संक्रमित मरीजों में से 291 दिल्ली के और 63 दिल्ली के बाहर के रहने वाले हैं।

अस्पतालों में आक्सीजन सपोर्ट पर भर्ती मरीजों की संख्या भी बढ़ रही है। मौजूदा समय में 124 मरीज आक्सीजन सपोर्ट व सात मरीज वेंटिलेटर पर हैं। एक दिन पहले तक 94 मरीज आक्सीजन सपोर्ट व चार मरीज वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे। कोविड केयर सेंटर में 244 मरीज भर्ती हैं। वहीं 6288 मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here