सर्वसम्मति से NDA के नेता चुने गए नरेंद्र मोदी

शनिवार की शाम को बीजेपी संसदीय दल (BJP) की बैठक हुई. इस बैठक में सभी ने सर्वसम्मति से नरेंद्र मोदी को औपचारिक तौर पर बीजेपी संसदीय दल का नेता चुना गया.

0
430

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के परिणाम आने के बाद शनिवार की शाम को बीजेपी संसदीय दल (BJP) की बैठक हुई. इस बैठक में सभी ने सर्वसम्मति से  नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को औपचारिक तौर पर बीजेपी संसदीय दल का नेता चुना गया.

नरेंद्र मोदी को NDA दल का नेता चुने जाने पर पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने नरेंद्र मोदी को बधाई दी. इससे पहले शिरोमणि अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल ने पार्टी की ओर से इस प्रस्ताव का समर्थन किया. NDA दल के नेता चुने जाने के लिए संसद भवन के सेंट्रल हॉल में NDA दलों की बैठक बुलाई गई थी. इस मौके पर NDA में शामिल दलों ने भी नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद के लिए समर्थन किया. समर्थन करने वालों में अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल, जेडीयू के नेता नीतीश कुमार, एलजेपी के नेता रामविलास पासवान, एआईएडीएमके आदि दल शामिल थे. 

इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि मैं सबसे पहले मोदी को सर्वसम्मति से चुने जाने के लिए धन्यवाद. मोदी जी का अभिनंदन करता हूं कि जिस प्रकार से उन्होंने 2014 में देश की जनता के सामने अपना संकल्प रखा था. हर वर्ग के लिए काम करने का संकल्प किया था, उन्होंने उस संकल्प को साथ लेते हुए सबका साथ सबका विकास के मंत्र को सार्थक किया है,. वह एक बार फिर देश के पीएम बनने जा रहे हैं. मैं उनको नए टर्म के लिए शुभकामनाएं देता हूं. यह जनादेश हमारे लिए ऐतिहासिक है. बीजेपी के 303 सासंद और एनडीए के 353 सांसद चुनकर आना प्रचंड समर्थन का अभिव्यक्ति है. 1971 के बाद पहली बार कोई पीएम दोबारा स्पष्ट बहुमत के साथ पीएम बनने जा रहे हैं. यह जनादेश का बड़ा पहलू है. चुनाव अभियान से पहले के समय था उस समय बहुत सारे सवाल उठाए जाते थे. हमें पसंद था कि हम पचास फीसदी की लड़ाई रहेंगे औऱ हम बहुमत प्राप्रत करेंगे. आज जब जनादेश आया है तो 17 से ज्यादा राज्यों में हमें 50 फीसदी से ज्यादा वोट प्राप्त हुआ है. देश की जनता ने सभी कोने से पीएम मोदी को बहुमत दिया है.

उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद जब पहले पीएम मोदी प्रधानमंत्री बने तब सबको लगा कि कोई भी ग़रीब घर से उठकर देश का पीएम बन सकता है. मोदी जी ने जिस प्रकार से गुजरात के अंदर विकास की यात्रा को आगे ले गए, पूरा देश उम्मदी करता था कि वह देश को भी आगे लेकर चलेंगे. और पीएम मोदी ने वह देश के स्तर पर भी करके दिखाया है. यही वजह है कि देश की जनता ने एक बार फिर पीएम मोदी और एनडीए को समर्थन दिया है. देश की जनता ने पीएम मोदी पर विश्वास जताया है. देश की जनता नरेंद्र मोदी एक्सप्रीमेंट को अनोमोदित करती है. यह जनादेश देश के 22 करोड़ परिवार जिनके जीवन में एनडीए सरकार ने उजाला भरने का काम किया है. किसी को गैस, किसी को शौचालय तो किसी को घर मिला है. इनको पहले जगह नहीं मिलती थी. पीएम मोदी ने इन 22 करोड़ परिवार के जीवन स्तर को उठाया है. आज इन्ही का आशीर्वाद जनादेश में बदला है. अभी 50 करोड़ लोगों का नंबर आना बाकी है.

उन्होंने देखा है कि मेरे साथ वाले को गैस, बिजली, शौचालय मिली है अब मोदी आए हैं तो मुझे भी मिलेगा. 1990 से दशक से देश में आतंकवाद का दौर शुरू हुआ. कई घटनाओं ने देश को झगझोर कर रख दिया है. उस समय से जनता को लगता था कि देश की सरकार आतंकवाद के खिलाफ गंभीर नहीं है. जब सबसे पहले सर्जिकल स्ट्राइक हुई उसके बाद देश की जनता को लगा कि यह सरकार घर में घुसकर मार सकती है. हमनें पुलवामा हमले के बाद जब बालाकोट में हमला किया तो देश को लगा कि यह सरकार अपने वीरों की शहादत का बदला लिया. 1990 से देश की सुरक्षा के प्रति जो उपेक्षा की जाती थी वह अब खत्म हो गया है. इस सरकार के लिए देश की सुरक्षा सबसे ऊपर है. हमारे देश के लिए लोकतंत्र के लिए परिवारवाद, जातिवाद औऱ तृष्टिकरण एक श्राप था. पहली बार 2019 के जनादेश में परिवारवाद, जातिवाद औऱ तृष्टिकरण को राजनीति से बाहर निकाल दिया. जनता ने सिर्फ पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस को सराहा है. जो काम करेगी उसे ही मौका मिलेगा. यह बहुत बड़ी बात है. मोदी जी के बार में इतना कहना चाहता हूं कि उन्होंने 20 साल से एक भी छुट्टी नही ली है. छुट्टी नहीं ली है इतना ही पर्याप्त नहीं है. वह कभी भी आलस में नहीं दिखे. पीएम मोदी ने वोट बैंक की राजनीति से ऊपर उठकर फैसला लिया है. उन्होंने जो फैसले लिए वह सिर्फ जनता के लिए हैं. देश की जनता के मन एक अपेक्षा देखी है कि यह देश हमारा महाशक्ति बनना चाहिए. मैं पूरी आशा करता हूं कि देश की जनता ने मोदी जी को दो दूसरा टर्म दिया है, उसमें भारत एक नई शक्ति बनकर उभरेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here