‘अर्थव्यवस्था में मंदी’ वाले बयान से पलटे निति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार।

राजीव कुमार ने कहा कि मेरे वक्तव्य का मीडिया ने गलत मतलब निकाला है। सरकार अर्थव्यवस्था में जान डालने के लिए कई सख्त कदम उठा रही है।

0
653

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार (Vice Chairman Rajiv Kumar) ने शुक्रवार को अर्थव्यवस्था में मंदी आने के बयान से पलट गए हैं। राजीव कुमार ने कहा कि मेरे वक्तव्य का मीडिया ने गलत मतलब निकाला है। सरकार अर्थव्यवस्था में जान डालने के लिए कई सख्त कदम उठा रही है। किसी को भी मंदी को लेकर के अफवाह फैलाने की जरूरत नहीं है।

पहले दिया था यह बयान:शुक्रवार सुबह के वक्त एक समारोह में पिछले 70 साल में देश की अर्थव्यवस्था सबसे खराब दौर से गुजर रही है। आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि सरकार को निजी क्षेत्र का डर खत्म करना होगा, ताकि वे निवेश को बढ़ावा दे सकें।

राजीव कुमार (Rajiv Kumar) ने कहा कि वित्तीय क्षेत्र में जारी संकट का असर अब आर्थिक विकास पर भी दिखने लगा है। ऐसे में निजी क्षेत्र को निवेश के लिए प्रोत्साहित किए जाने की जरूरत है, ताकि मध्य वर्ग की आमदनी में इजाफा हो सके। इसका असर देश की अर्थव्यवस्था पर भी दिखेगा। उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों में वित्तीय क्षेत्र की ऐसी हालत कभी नहीं रही है। निजी क्षेत्र में अभी कोई किसी पर भरोसा नहीं कर रहा और न ही कोई कर्ज देने को तैयार है। हर क्षेत्र में नकदी और पैसों को जमा किया जाने लगा है। इन पैसों को बाजार में लाने के लिए सरकार को अतिरिक्त कदम उठाने होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here