अगर पाकिस्तान डील चाहता है, तो कुछ नहीं होगा. हमे पायलट वापसी चाहिए, डील नहीं – भारत सरकार

आला सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि भारत सरकार ने कहा कि हम इस मामले में कोई डील नहीं चाहते हैं. अगर पाक डील चाहता है तो हम ऐसा नहीं करेंगे.

0
397

भारत और पाकिस्तान (Pakistan) के बीच कायम तनातनी (Tension) के बीच पाक की कैद में भारतीय पायलट (Indian Pilot) के मामले में भारत ने पाकिस्तान को स्पष्ट शब्दों में कहा कि हमें पायलट की तुरंत वापसी चाहिए. आला सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि भारत सरकार ने कहा कि हम इस मामले में कोई डील नहीं चाहते हैं. अगर पाक डील चाहता है तो हम ऐसा नहीं करेंगे. सरकारी सूत्रों की मानें तो भारत ने पाकिस्तान को कहा कि हमें पायलट की रिहाई चाहिए. हम एक्ससेस मांग नहीं कर रहे हैं और हमने पाकिस्तान को बहुत सबूत दिए हैं. अगर बातचीत करना चाहते हैं तो इमरान खान भरोसेमंद माहौल दें. बताया जा रहा है कि भारत ने यह बयान एक अहम बैठक के बाद जारी किया है. इस बैठक में तीनों सेना के प्रमुख, रॉ और आईबी के चीफ भी थे. 

सूत्रों की मानें तो भारत ने कहा कि है कि अगर पाकिस्तान डील चाहता है, तो कुछ नहीं होगा. हमे वापसी चाहिए, डील नहीं. भारत ने पाकिस्तान की हिरासत में मौजूद भारतीय पायलट से मुलाकात के लिए कॉन्स्यूलर एक्सेस नहीं मांगी, तुरंत रिहा करने के लिए कहा है. साथ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भरोसेमंद माहौल दें, तब वार्ता पर विचार किया जा सकता है. 

वहीं, इससे पहले भारत के पूर्व विदेश सचिव सलमान हैदर ने कहा कि भारतीय वायुसेना के पायलट की रिहाई भारत की प्राथमिकता होनी चाहिए. भारत को इंटरनेशनल समुदाय को साथ लेकर कुटनीतिक और राजनीतिक स्तर पर पाकिस्तान पर दबाव बनाना चाहिए कि वो हमारे पायलट को रिहा करे. अगर हमारा पायलट कैदी बना रहा तो मामला और बढ़ सकता है और उलझ सकता है.  

दरअसल, 27 फरवरी को भारत और पाकिस्‍तान दोनों तरफ जवाबी कार्रवाई को लेकर खबरें जोरों पर रहीं. पाकिस्‍तान ने एलओसी इलाके में अपने लड़ाकू विमान से घुसपैठ की कोशिश की जिसे भारतीय वायु सेना ने नाकाम कर दिया. पाकिस्‍तानी विमान का मलबा पाक अधिकृत कश्‍मीर में मिला. इस दौरान भारतीय वायुसेना के एक मिग विमान का नुकसान हो गया. भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा कि हमारा एक पायलट लापता है. बाद में उसके पाकिस्‍तान में बंधक बनाए जाने की सूचना मिली. भरत ने पाकिस्‍तान के अधिकारियों को तलब किया और पाकिस्‍तान में कैद पायलट को सुरक्षित वापस करने को कहा. इस बीच पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के साथ फिर से बातचीत का राग अलापा. पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि जंग हुई तो यह किसी के काबू में नहीं रहेगी. इमरान खान ने कहा कि हम भारत को बातचीत के लिए आ‍मंत्रित करते हैं. 

27 फरवरी की शाम में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना प्रमुखों के साथ तकरीबन एक घंटे बात की. साथ में राष्‍ट्रीय सुरक्षा प्रमुख अजित डोभाल भी उपस्‍थ‍ित थें. उच्‍चस्‍तरीय बैठक के बाद दिल्‍ली मेट्रो के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया और प्रत्‍येक दो घंटे पर स्‍टेशन कंट्रोलर को सूचना देने का भी निर्देश दिया गया.  

इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में हुए एक आत्‍मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थें. हमले की जिम्‍मेदारी पाकिस्‍तान स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने ली थी. भारत ने इसके अगले दिन ही सेना को खुली छूट देने की बात कही थी और पाकिस्‍तान से ‘मोस्‍ट फेवरेट नेशन’ दर्जा वापस ले लिया था. इसके बाद घाटी में हुए सर्च ऑपरेशन में जैश के कई आतंकवादी मारे गए थें. 26 फरवरी की रात में वायु सेना ने अपने असैन्‍य कार्रवाई में पाकिस्‍तान के बालाकोट स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के कैंप को ध्‍वस्‍त कर दिया था. भारत के इस कार्रवाई का पूरी दुनिया ने समर्थन किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here