NTRO का बड़ा खुलासा, हमले के वक्त जैश के अड्डे पर सक्रिय थे 300 मोबाइल

एनटीआरओ (NTRO) द्वारा दावा किया जा रहा है कि सर्विंलांस के मुताबिक, बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के कैम्प में जहां भारतीय वायु सेना ने एयर स्ट्राइक किया था करीब 300 मोबाइल फोन (Mobile Phone) ऐक्टिव थे।

0
477

बालाकोट (Balakot) स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-E-Mohammad) के अड्डे पर हुए हमले का जहां विपक्ष सबूत मांग रहा है, वहीं एनटीआरओ-NTRO (नेशनल टेक्निकल रिसर्च अॉर्गनाइजेशन) का बड़ा बयान सामने आया है।  एनटीआरओ (NTRO) द्वारा दावा किया जा रहा है कि सर्विंलांस के मुताबिक, बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के कैम्प में जहां भारतीय वायु सेना ने एयर स्ट्राइक किया था करीब 300 मोबाइल फोन (Mobile Phone) ऐक्टिव थे।

राष्ट्रीय तकनीक अनुसंधान संगठन (NTRO-एनटीआरओ) ने इस तथ्य की पुष्टि की है कि भारत की तरफ से 26 फरवरी 2019 को बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक से पहले जैश-ए-मोहम्मद के कैम्प में 300 मोबाइल एक्टिव थे। खबरों के अनुसार, भारत की ओर से हुई स्ट्राइक में 300 आतंकवादियों के मारे जाने की बात कही गई। समाचार एजेन्सी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से ये बताया कि चार मार्च को एनटीआरओ ने ये रिपोर्ट जारी की।

26 फरवरी को भारत की एयरोफोर्स ने 12 मिराज जेट विमानों के ज़रिए पाकिस्तान की एयर स्पेस में दाखिल हो बालाकोट के जैश-ए-मोहम्मद कैम्प पर एक हज़ार किलो के बम गिराए थे। भारत सरकार ने एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकवादियों की कोई आधिकारिक संख्या घोषित नहीं की है। एएनआई के सूत्र बताते हैं, “तकनीकी निगरानी में पता चला कि स्ट्राइक से पहले उस जगह पर 300 एक्टिव मोबाइल मौजूद थे। यहीं भारतीय एयरोफोर्स द्वारा हमला किया गया था।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here