2019 के चुनावों में पीएम मोदी को पछाड़ने की तैयारी में लगा विपक्ष

0
475
MOSI SAID

कर्नाटक चुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस और जेडीएस ने मिलकर अपनी सरकार बना ली है और यह बात पिछले कल एचडी कुमारस्वामी के मुख्यमंत्री पद के शपथ ग्रहण करने के बाद मानो भाजपा के सामने एक एक लंबी लकीर खींच दी है। कांग्रेस और अन्य सभी पार्टियां दूसरी और एकजुट हो गई हैं। विपक्ष के एकजुटता भाजपा के लिए काफी मुश्किल दे रही है। गौरतलब बहाना तो था बुधवार को कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह का। लेकिन, उसी की आड़ में देश व विभिन्न प्रदेशों के दिग्गज दिल्ली से दूर दक्षिण भारत में मंच पर 2019 में मोदी को शिकस्त देने की तस्वीर तैयार कर रहे थे।

बता दें कुमार स्वामी की ताजपोशी में शामिल इन विपक्ष के 11 बड़े नेताओं का लक्ष्य पीएम नरेंद्र मोदी हैं। इन नेताओं को एकजुट आने की वजह भारत की 64 फीसदी आबादी पर भगवा राज है। इसीलिए ये 64 फीसदी बनाम 36 फीसदी की जंग है। अगले साल 2019 के चुनावों में ये देश 36 फीसदी आबादी पर राज बचाने के लिए संघर्ष करने वाले नेता मोदी के खिलाफ मोर्चेबंदी में जुटे हैं और कर्नाटक में बीजेपी की सरकार गिराने की वजह से इनके हौसले की उड़ान को उम्मीदों के पंख लगे हैं। अगर पूरा विपक्ष एक साथ आ जाए, तो सवाल ये है कि 2019 में बीजेपी के सामने ये मोर्चा कितनी बड़ी चुनौती साबित होगा। 11 राज्यों की 13 पार्टियां मोदी को हराने के लिए एक हो सकती हैं इस बात के संकेत आज कर्नाटक में देखने को मिल गये। लिहाजा,13 राज्यों की 349 सीटों पर बीजेपी को एकजुट विपक्ष से टक्कर मिल सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here