सोनिया गांधी के नेतृत्व में राष्ट्रपति से मिले विपक्ष के नेता, CAA को वापस लेने की मांग

सोनिया गांधी के नेतृत्व में विपक्षी दलों के नेताओं ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पुलिस कार्रवाई को लेकर मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की.

0
415

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के नेतृत्व में विपक्षी दलों के नेताओं ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) में पुलिस कार्रवाई को लेकर मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की.

विपक्ष ने जामिया के छात्रों पर रविवार को हुई पुलिसिया कार्रवाई के मामले में न्यायिक जांच की मांग की है. राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बाद करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि पूर्वोत्तर में जो हालात हैं वह अब पूरे देश में फैल रहा है. यह अब दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय (Jamia University) तक भी आ गया है. यह काफी गंभीर हालात है. हमें डर है कि यह हालात और फैलेंगे. पुलिस हालात को सही से हैंडल नहीं कर रही है. दिल्ली में पुलिस जामिया के महिला हॉस्टल में घुसी और बच्चियों को बाहर निकाला जो गलत था. मुझे लगता है कि आपने देखा है कि बीजेपी और मोदी सरकार (Modi Government) सिर्फ लोगों की आवाज को बंद करने आई है. यह स्वीकार नहीं किया जा सकता है. लोकतंत्र में सरकार का यह रवैया स्वीकार नहीं होगा.

TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन (Derek O’Brien) ने कहा कि हमनें राष्ट्रपति से कहा कि वह सरकार को कहे कि वह इस कानून को वापस लें. यह कानून सिर्फ गरीबों को प्रभावित करेगा. वहीं, माकपा नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechuri) ने कहा कि राष्ट्रपति हमारे संविधान के रखवाले हैं. इसलिए अगर कोई संविधान का उल्लघंन करता है तो हम वह स्वीकार नहीं करेंगे. हमने राष्ट्रपति से आवेदन किया कि वह सरकार को सलाह दें कि वह इस कानून को वापस लें.

SP सांसद रामगोपाल यादव (Ram Gopal Yadav) ने कहा कि हमनें राष्ट्रपति जी से कहा कि हमने यह आशंका पहले व्यक्त की थी कि यह कानून बनने से देश में हालात बिगड़ सकते हैं. यह कानून देश को विघटन की तरफ ले जा सकता है. यह कानून NRC के साथ मिलकर लोगों को भयभीत कर रही है. हमनें राष्ट्रपति से अनुरोध किया है कि वह सरकार से इस कानून को वापस लेने की सलाह दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here