मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद जल्द ही सलाखों के पीछे होगा।

26/11 के मास्टरमाइंड और जमात-उत-दावा के सरगना हाफिज सईद (Hafiz Saeed) को लेकर पाकिस्तान कड़ा रुख अपना रहा है.

0
315

26/11 के मास्टरमाइंड और जमात-उत-दावा के सरगना हाफिज सईद (Hafiz Saeed) को लेकर पाकिस्तान कड़ा रुख अपना रहा है. बुधवार को कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान सरकार ने उस पर टेरर फंडिंग का केस दर्ज किया था. अब सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि पाकिस्तान सरकार जल्द ही हाफिज सईद को जेल भेजने की तैयारी कर रही है.

संयुक्त राष्ट्र की ओर से ग्लोबल आतंकी घोषित किए जा चुके हाफिज़ सईद (Hafiz Saeed) पर पाकिस्तान सरकार ने एनजीओ के नाम पर टेरर फंडिंग के लिए फंड इकट्ठा करने के मामले दर्ज किए हैं. इसके लिए पाकिस्तान सरकार ने सईद के साथ उसके संगठन के अन्य सदस्यों के खिलाफ दर्ज किए हैं. लाहौर, गुजरांवाला और मुल्तान में एनजीओ के नाम पर टेरर फंडिग के लिए पैसे जुटाने वाले ये मामले अल-अनफाल ट्रस्ट, दावत उल इरशाद ट्रस्ट पर दर्ज किए गए हैं.

पंजाब पुलिस के आतंकवाद रोधी विभाग (सीटीडी) ने इस मामले में हाफिज़ सईद (Hafiz Saeed) समेत जमात-उद-दावा के 13 नेताओं के खिलाफ 23 मामले दर्ज किए गए हैं. सूत्रों से खबर मिल रही है कि मामले दर्ज होने के बाद इन आरोपियों को कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है.

बता दें पुलिस टेरर फंडिंग के मामलों में पहले भी प्रतिबंधित संगठनों के कुछ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. इतना ही नहीं उन्हें आतंकरोधी अदालतों ने सज़ा भी सुनाई थी. बता दें कुछ समय पहले ही अदालत ने जमात-उद-दावा और जैश-ए-मोहम्मद के 12 सदस्यों को पांच साल की कैद की सज़ा सुनाई थी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here