Corona Impact: Excise Duty बढ़ने के बावजूद पेट्रोल-डीजल हो सकते हैं सस्‍ते

कच्चे तेल की कीमत इस वक्त 30 डॉलर प्रति बैरल से भी नीचे आ गई। इस दौरान पिछले सप्ताह सरकार ने पेट्रोल व डीजल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी में तीन रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया।

0
2315

Excise Duty में बढ़ोत्‍तरी के बावजूद पेट्रोल व डीजल की कीमतों में अभी और कटौती हो सकती है। पेट्रोल व डीजल अपने वर्तमान स्तर के मुकाबले क्रमश: 4.25 रुपये व 3.75 रुपये प्रति लीटर फिसल सकते हैं। SBI Eco Wrap की हालिया रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है। गुरुवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 69.63 रुपये और डीजल की 62.33 रुपए प्रति लीटर रही।

वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस (Coronavirus) के फैलने से कच्चे तेल के दाम में रिकॉर्ड गिरावट दर्ज की गई है। कच्चे तेल की कीमत इस वक्त 30 डॉलर प्रति बैरल से भी नीचे आ गई। इस दौरान पिछले सप्ताह सरकार ने पेट्रोल व डीजल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी में तीन रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया।

एसबीआई इकोरैप (SBI Eco Wrap) की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार अगर पेट्रोल व डीजल पर लगने वाले एक्साइज ड्यूटी में बढ़ोतरी नहीं करती तो इनकी कीमतों में 10-12 रुपये प्रति लीटर तक की गिरावट संभव थी। लेकिन अब यह गिरावट पेट्रोल में 4.25 रुपये प्रति लीटर तो डीजल में 3.75 रुपये प्रति लीटर तक संभव है।

पिछले तीन दिनों से पेट्रोल के दाम 69.63 रुपये प्रति लीटर पर स्थिर है। जनवरी के मुकाबले पेट्रोल के दाम में लगभग 5.50 रुपये प्रति लीटर की कमी आ चुकी है। इस साल एक जनवरी को पेट्रोल का दाम 75.18 रुपये प्रति लीटर था। रिपोर्ट के मुताबिक अभी कच्चे तेल का दाम 27 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर है और वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही में इसके आसपास कच्चे तेल के दाम बने रहने पर सरकार एवं खुदरा उपभोक्ता दोनों के लिए राहत की बात होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here