CAA के विरोध पर बरसे पीएम मोदी तो कांग्रेस ने कहा, ‘मोदीजी ये आंदोलन आपके विभाजनकारी कारनामों के खिलाफ हो रहा है।

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, 'वे पाकिस्तान से दलितों और अन्य सताए गए लोगों के प्रवेश का विरोध कर रहे हैं. पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहे हैं.

0
351

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने गुरुवार को नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) का विरोध करने के लिए कांग्रेस सहित विपक्षी दलों पर निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस संविधान का विरोध कर रही है. तुमकुरु (Tumakur) में श्रीसिद्धगंगा मठ में पीएम मोदी ने कहा, ‘हमारी सरकार CAA लाई, लेकिन कांग्रेस ने इसका विरोध किया. इन लोगों ने संविधान के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है.’ उन्होंने कहा कि जो लोग आज भारत की संसद के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, मैं उन्हें कहना चाहता हूं कि आज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की हरकतों को बेनकाब करने की जरूरत है. अगर आपको आंदोलन करना ही है तो पाकिस्तान के पिछले 70 साल के कारनामों के खिलाफ आंदोलन करना चाहिए, आवाज उठानी चाहिए. इसे लेकर कांग्रेस ने पीएम मोदी (PM Modi) पर पलटवार किया है.

कांग्रेस के आधिकारिक Twitter हैंडल से Tweet किया गया, ‘मोदीजी ये आंदोलन संसद नहीं, आपके विभाजनकारी कारनामों के खिलाफ हो रहा है. हम आपको देश नहीं तोड़ने देंगे. रही बात पाकिस्तान की, तो इसी हिंदुस्तान ने 1948, 65, 71, कारगिल में जो घाव उसे दिए हैं, वो अब तक नहीं उबर पाया. पाकिस्तान को जवाब ही देना है तो बिरयानी और आम का खेल बंद कीजिए.

इससे पहले पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, ‘वे पाकिस्तान से दलितों और अन्य सताए गए लोगों के प्रवेश का विरोध कर रहे हैं. पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहे हैं. पाकिस्तानियों ने हिंदुओं, सिखों और जैनियों के खिलाफ अन्याय किया है, लेकिन कांग्रेस ने अपनी आवाज नहीं उठाई.’ पीएम मोदी ने कहा कि यह हमारी ड्यूटी है कि जो लोग पाकिस्तान से भाग रहे हैं, हम उनके साथ खड़े हों. उन्होंने कहा कि उनकी मदद करना हमारा कर्तव्य है.

इससे पहले नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये मेरा सौभाग्य है कि साल 2020 की शुरुआत तुमकुरू की इस पावन धरा से हुई है. मेरी कामना है कि सिद्धागंगा मठ की ये पवित्र ऊर्जा समस्त देशवासियों के जीवन को मंगलकारी बनाए. पूज्य स्वामी श्री श्री शिवकुमार जी की भौतिक अनुपस्थिति हम सभी महसूस करते हैं. मैंने तो साक्षात अनुभव किया है कि उनके दर्शन मात्र से ही जीवन ऊर्जा से भर जाता था. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश निराशाओं के दौर से बाहर निकल रहा है, भारत ने नई ऊर्जा और नए उत्साह के साथ 21वीं सदी के तीसरे दशक में प्रवेश किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here