PM Modi ने Tweet कर असम के लोगों से कहा- कोई भी आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति को नहीं छीन सकता है।

केंद्र सरकार और मैं असमिया लोगों के राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और भूमि अधिकारों को संवैधानिक रूप से संरक्षित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं - PM Modi

0
391

Citizenship Amendment Bill – नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ बुधवार को पूर्वोत्तर सुलग उठा। असम, त्रिपुरा, मणिपुर, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश और मेघालय में बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर उतरे और उग्र प्रदर्शन किया। कई जगह से आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं भी सामने आईं। इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने Tweet करके कहा कि मैं असम (Assam) के अपने भाइयों और बहनों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि नागरिकता संशोधन बिल के पारित होने के बाद उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। मैं उन्हें आश्वस्त करना चाहता हूं- कोई भी आपके अधिकारों, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति को नहीं छीन सकता है। यह फलता-फूलता और विकसित होता रहेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने कहा कि केंद्र सरकार और मैं असमिया लोगों के राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और भूमि अधिकारों को संवैधानिक रूप से संरक्षित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने बुधवार को नागरिकता (संशोधन) विधेयक के संसद से पारित होने को भारत और इसके करुणा तथा भाईचारे के मूल्यों के लिए ऐतिहासिक दिन करार दिया था। उन्होंने Tweet किया कि विधेयक वर्षों तक पीड़ा झेलने वाले अनेक लोगों के कष्टों को दूर करेगा। पीएम मोदी ने राज्यसभा में विधेयक का समर्थन करने वाले सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया।

राज्यसभा ने आज इस विधेयक को मंजूरी दे दी और इसके साथ ही पाकिस्तान, अफगानिस्तान तथा बांग्लादेश से आए गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने की विधायी प्रक्रिया को मूर्त रूप मिल गया। विधेयक के पक्ष में 125 और विरोध में 105 मत पड़े। भाजपा के सहयोगी दलों-जदयू और शिरोमणि अकाली दल के साथ ही अन्नाद्रमुक, बीजद, तेदेपा और वाईएसआर कांग्रेस ने विधेयक का समर्थन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here