पीएम मोदी ने मालदीव की संसद में कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है।

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि आतंकवाद हमारे समय के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. यह मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है.

0
571

अपने पहले विदेशी दौरे पर मालदीव (Maldives) पहुंचे पीएम मोदी (PM Modi) ने वहां की संसद (Majlis) को संबोधित किया. इस दौरान पीएम पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि मालदीव (Maldives) दुनिया का नायाब नगीना है. उन्होंने कहा कि मैं आज पीपुल्स मजलिस (Majlis) में उपस्थित होकर बहुत खुश हूं. मोहम्मद नशीद के मालदीव के संसदीय स्पीकर बनने के बाद मुझे पहली बार आमंत्रित करने का यह निर्णय लिया गया था. इस जेस्चर ने हर भारतीय के दिल को छू लिया है.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि कुछ दिनों पहले मालदीव के लोगों ने इकट्ठा होकर दुनिया के सामने लोकतंत्र का उदाहरण पेश किया था. आप लोगों ने यह बता दिया कि अंततः जीत जनता की होती है. मालदीव की इस जीत पर आपके सबसे घनिष्ठ मित्र और दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत को सबसे ज्यादा खुशी हुई.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि आतंकवाद हमारे समय के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. यह मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है. यह बहुत बड़ा दुर्भाग्य है कि लोग अभी भी गुड टेररिस्ट और बैड टेररिस्ट का भेद रखते हैं. उन्होंने कहा कि आतंकवाद एक देश के लिए ही नहीं बल्कि पूरी सभ्यता के लिए खतरा है. राज्य प्रायोजित आतंकवाद आज सबसे बड़ा खतरा है. आतंकवाद से लड़ने के लिए विश्व समुदाय का एकजुट होना जरूरी है.

इससे पहले पीएम मोदी को मालदीव का सर्वोच्च पुरस्कार ‘रूल ऑफ निशान इज्जुद्दीन’ से सम्मानित किया गया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मेरे दूसरे कार्यकाल के पहले विदेशी दौरे पर आपके सुंदर देश मालदीव आने का मुझे सौभाग्य प्राप्त हुआ. इस अवसर और आपके शानदार मेहमाननवाजी के लिए मैं मालदीव सरकार को बधाई देता हूं.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि मालदीव के सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित करके आपने मुझे ही नहीं, बल्कि पूरे भारतवर्ष को गौरव दिया है. यह सम्मान मेरे लिए हर्ष और गौरव का विषय है. उन्होंने कहा कि दोनों देशों को हिंद महासागर की लहरों ने सांस्कृतिक संबंधों में बांधा है. सन 1988 में बाहरी हमला हो, या सुनामी जैसी कुदरती आपदा, या पीने की पानी की कमी. भारत हमेशा मालदीव के साथ रहा है और मदद के लिए आगे आया है.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि मैं यह दोहराना चाहता हूं कि भारत मालदीव की हर संभव सहायता के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि भारत हर हाल में हर समस्या में मालदीव के साथ खड़ा है. दोनों देशों के लोग विकास और स्थिरता चाहते हैं.

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि भारत में संसदीय और मालदीव में राष्ट्रपति और मजलिस के चुनावों के जनादेश से साफ है कि दोनों देशों के लोग स्थिरता और विकास चाहते हैं. ऐसे में पीपल सेंट्रिक और समावेशी विकास तथा सुशासन की हमारी जिम्मेदारी और भी महत्वपूर्ण हो जाती है.

पीएम (PM Modi) ने कहा कि मैंने अभी राष्ट्रपति सोलिह के साथ विस्तृत और उपयोगी विचार-विमर्श किया. हमने आपसी हितों के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों के साथ-साथ हमारे द्विपक्षीय सहयोग की विस्तार से समीक्षा की है. हमारी साझेदारी की भावी दिशा पर हमारे बीच पूर्ण सहमति है. राष्ट्रपति सोलिह के पद ग्रहण करने के बाद से द्विपक्षीय सहयोग की गति और दिशा में मौलिक बदलाव आया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here