बिल-गेट्स फाउंडेशन ने ‘स्वच्छ भारत कैंपेन’ के लिए पीएम मोदी को ‘ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड’ से किया सम्मानित।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने प्रतिष्ठित 'ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड' (Global Goalkeeper Award) से सम्मानित किया।

0
448

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को भारत में स्वच्छता की दिशा में किए गए महत्वपूर्ण सुधार और उनके नेतृत्व के लिए बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन (Bill and Malinda Gates Foundation) ने बुधवार तड़के (भारतीय समयानुसार) प्रतिष्ठित ‘ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड’ (Global Goalkeeper Award) से सम्मानित किया। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के उच्च स्तरीय सत्र में भाग लेने के लिए अमेरिका दौरे पर हैं।

फाउंडेशन (Bill and Malinda Gates Foundation) ने 24 सितंबर को चौथे वार्षिक ‘गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स अवार्ड्स’ (Goalkeepers Global Goals Award) का आयोजन किया। महात्मा गांधी की 150 जन्म जयंती पर मुझे ये अवार्ड दिया जाना मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से भी बहुत महत्वपूर्ण है। ये इस बात का प्रमाण है कि अगर 130 करोड़ लोगों की जनशक्ति, किसी एक संकल्प को पूरा करने में जुट जाए, तो किसी भी चुनौती पर जीत हासिल की जा सकती है।

फाउंडेशन ने बताया कि मोदी को 2019 का ‘ग्लोबल गोलकीपर अवार्ड प्रदान किया गया है। फाउंडेशन के अनुसार इस पुरस्कार का उद्देश्य ऐसे राजनीतिक नेता को ”विशेष सम्मान प्रदान करना है, जिन्होंने अपने देश में या विश्व स्तर पर प्रभावशाली कार्यों के माध्यम से ‘ग्लोबल गोल्स के लिए अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को स्वच्छ भारत मिशन में उनके नेतृत्व के लिए सम्मानित किया गया, जिसे उन्होंने 2 अक्टूबर 2014 को शुरू किया था। महत्त्वाकांक्षी मिशन का लक्ष्य देशभर में स्वच्छता को बढ़ावा देना है। इस मिशन का उद्देश्य महात्मा गांधी को उनकी 150 वीं जयंती पर श्रद्धांजलि स्वरूप देश में सार्वभौमिक स्वच्छता कवरेज को हासिल करने के प्रयासों में तेजी लाना है।

दो अक्टूबर, 2019 तक खुले में शौच को खत्म करने के लिए अब तक 9 करोड़ शौचालय बनाए गए हैं और वर्तमान में ग्रामीण स्वच्छता कवरेज भारत के 98 प्रतिशत गांवों तक पहुंच गया है, जो चार साल पहले तक महज 38 प्रतिशत ही था। सम्मान देने से पहले फाउंडेशन ने कहा था, ”हम मोदी को भारत में 50 करोड़ से अधिक लोगों को स्वच्छता प्रदान करने के लिए अपना वार्षिक ‘गोलकीपर्स ग्लोबल गोल्स पुरस्कार प्रदान करेंगे।

गौरतलब है कि CNN की रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिण एशियाई मूल के अमेरिकियों के एक प्रमुख समूह ने मानवाधिकार के कथित हनन का हवाला देते हुये फाउंडेशन को एक खुला पत्र लिखकर इस पुरस्कार की आलोचना की और फाउंडेशन से इसे वापस लेने का आग्रह किया था। सीएनएन को दिए एक बयान में, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा, ”स्वच्छ भारत मिशन से पहले, भारत में 50 करोड़ से अधिक लोगों को स्वच्छता तक पहुंच नहीं थी और अब, उनमें से अधिकांश स्वच्छता के दायरे में आ गए हैं। अभी भी लंबा रास्ता तय करना है, लेकिन भारत में स्वच्छता अभियान के प्रभाव पहले से ही दिख रहे हैं।

फाउंडेशन ने बयान में कहा, ”स्वच्छ भारत मिशन दुनिया भर के अन्य देशों के लिए एक उदाहरण के तौर पर काम कर सकता है, जिन्हें दुनिया भर में गरीब लोगों के लिए स्वच्छता में सुधार करने की तत्काल आवश्यकता है। गेट्स फाउंडेशन के बयान में कहा गया, ”हम उन विशिष्ट मुद्दों पर काम करते हैं, जहां हमें लगता है कि हम दुनिया के सबसे गरीब लोगों के जीवन में सबसे अधिक बदलाव ला सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here