CAA और NRC को लेकर प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर हमला, कहा- यूपी पुलिस ने फैलाई अराजकता

प्रियंका गांधी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार, प्रशासन और पुलिस द्वारा कई जगह अराजकता फैली है। मैंने राज्यपाल महोदय को पत्र लिखा है।

0
305

नागरिकता कानून (CAA) और NRC के विरोध में सड़कों पर उतरे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस मुख्यालय लखनऊ (Lucknow) में सोमवार को प्रियंका गांधी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार, प्रशासन और पुलिस द्वारा कई जगह अराजकता फैली है। मैंने राज्यपाल महोदय को पत्र लिखा है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा कि यूपी में नागरिकता कानून (CAA) और NRC के विरोध में सड़कों पर उतरे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस कार्रवाई की जांच होनी चाहिए। इसके लिए प्रियंका गांधी ने राज्यपाल को भी एक ज्ञापन सौंपा है।

प्रियंका गांधी यहीं नहीं रुकीं, उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा कई जगह अराजकता फैली है, उन्होंने ऐसे कदम उठाए हैं, जिनका कोई लीगल आधार नहीं है। आप जानते हैं कि मैं बिजनौर गई थी, वहां दो लोगों की मौत हुई थी। लड़का कॉफी मशीन चलाता था, पिता को कहा कि मैं 5 मिनट में दूध लेकर आता हूं, वो बच्चा गली में से निकला, पिता ने 10 मिनट इंतजार किया फिर उन्हें एक बच्चे की खबर मिली और उन्हें अपने बेटे की लाश मिली।

वहीं 21 साल का सुलेमान UPSC की तैयारी कर रहा था। शाम को नामज पढ़ने के लिए मस्जिद गया, वह मस्जिद के बाहर खड़ा था। परिवार और मौके पर खड़े लोगों का कहना है कि पुलिस ने उसे उठाया था, 4-5 किलोमीटर पर एक लड़के की लाश की खबर मिली।

वहीं CRPF ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के लखनऊ के हालिया दौरे के दौरान उनकी सुरक्षा को लेकर कोई चूक नहीं हुई। साथ ही बल ने प्रियंका गांधी पर स्कूटर पर पीछे बैठकर यात्रा कर सुरक्षा मानकों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया।

प्रियंका गांधी को मिली ‘जेड प्लस’ सुरक्षा घेरे के तहत उन्हें सशस्त्र कमांडो मुहैया कराने वाले बल ने एक बयान में कहा कि कांग्रेस नेता ने बिना पूर्व सूचना दिए यात्रा की इसलिए सुरक्षा के इंतजाम पहले से नहीं किए जा सके। बयान में कहा गया है, ”यात्रा के दौरान उन्होंने बिना निजी सुरक्षा अधिकारी के उस असैन्य वाहन का इस्तेमाल किया जो बुलेट रोधी नहीं था। इस बयान के अनुसार, प्रियंका ने स्कूटी पर लिफ्ट ली वह स्कूटी पर पीछे बैठ कर चली गईं।

सीआरपीएफ ने कहा कि सुरक्षा अवरोध के बावजूद उसने कांग्रेस नेता को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराई। उसने कहा, ”सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति को सुरक्षा में ऐसी चूक की जानकारी दे दी गई है और उन्हें पर्याप्त सुरक्षा बंदोबस्त सुनिश्चित करने की सलाह भी दी गई है। प्रियंका गांधी 28 दिसंबर को लखनऊ में थीं और उन्होंने आरोप लगाया कि स्थानीय पुलिस ने उनके सुरक्षा कर्मियों को धमकियां दीं तथा उन्हें आगे न जाने की चेतावनी दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here