‘गरीब नहीं अमीर रखते हैं चौकीदार’ – प्रियंका गाँधी

प्रियंका गांधी ने लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के 'मैं भी चौकीदार' अभियान पर तंज कसा। प्रियंका ने कहा कि, 'गरीब नहीं अमीर रखते हैं चौकीदार।

0
281

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) के ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान पर तंज कसा। प्रियंका ने कहा कि, ‘गरीब नहीं अमीर रखते हैं चौकीदार। प्रियंका गांधी ने कहा कि उनकी (प्रधानमंत्री) मर्जी अपने नाम के आगे क्या लगाएं। मुझे एक किसान भाई ने कहा कि देखिए चौकीदार तो अमीरों के होते हैं, हम किसान तो अपने खुद चौकीदार होते हैं।’

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा कि यह समय घर में बैठने का नहीं है। आप लोग घरों से निकलकर बाहर आएं। मैं भी घर में बैठी थी, मुझे भी मजबूरन बाहर निकलना पड़ा। देश का संविधान खतरे में हैं। आप लोगों को खुद के लिए ही नहीं देश को बचाने के लिए काम करना है। आप अपना वोट सोच समझकर दें। प्रियंका ने कहा मोदी सरकार में आम लोगों की आवाज दबाई जा रही है। सरकार सिर्फ गिने चुने लोगों के लिए ही काम कर रही है।

सिरसा में प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने एक किमी तक रोड शो किया, इस दौरान जन सैलाब उमड़ा। रोड शो के दौरान प्रियंका ने हर घर के दरवाजे पर दस्तक दी।

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) सिरसा घाट पहुंचीं, घाट पर बड़ी संख्या में मौजूद लोगों से की मुलाकात की। घाट के तट पर शिव मंदिर में उन्होंने मत्था टेका। सिरसा में प्रियंका गांधी का जोरदार स्वागत किया गया। उमडी़ भीड़ के बीच जमकर धक्का मुक्की हुई।

सिरसा घाट के बाद वह सीतामढ़ी घाट जाएंगी। सिरसा घाट और फिर सीतामढ़ी घाट में लोगों और स्थानीय नेताओं से मिलने के बाद प्रियंका विंध्याचल जाएंगी।

प्रियंका (Priyanka Gandhi) की यात्रा मनैया घाट से दुमदुमा घाट पहुंची। वह स्थानीय नेताओं से मिली है। यहां उन्होंने लोगों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी और बीजेपी पर हमला बोला।

दुमदुमा में प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा कि, मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार आई तो 10 दिनों में किसानों के कर्ज माफ कर दिए गए। राजस्थान में भी कांग्रेस की सरकार आते ही किसानों को राहत दी गई। उनका कर्ज माफ किया गया। उन्होंने अपील की है कि सोच समझकर उम्मीदवार चुने।

प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने यहां पर लोगों से पूछा कि आपके पास रोजगार है क्या?. नौजवान और किसान परेशान हैं। बेमतलब के मुद्दों में उलझाया जा रहा है। जनता के लिए राजनीति होनी चाहिए। जनता की आवाज सुनी जानी चाहिए।

लेकिन आवाज उठाने वालों को डराया जाता है। प्रियंका गांधी ने कहा कि 45 सालों में सबसे कम रोजगार मिला। छह महीने से मनरेगा का पैसा नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि किसानों को फसल का वाजिब दाम मिलना चाहिए। युवाओं को रोजगार चाहिए। महिलाओं को सुरक्षा चाहिए। ये चुनावी मुद्दे हैं, लेकिन इन मुद्दों से भटकाया जा रहा है।

प्रियंका (Priyanka Gandhi) की प्रयागराज से बनारस की यह तीन दिवसीय यात्रा 20 मार्च को बनारस में संपन्न होगी। देश के राजनीतिक नक्शे में खास जगह रखने वाले उत्तर प्रदेश में, लोकसभा चुनाव के मद्देनजर प्रियंका की यह यात्रा महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

इसके पहले दर्शन और पूजा के बाद उनका काफिला शहर से करीब 20 किमी दूर मनैया घाट पहुंचा जहां उन्होंने स्थानीय लोगों का अभिवादन किया और अपनी इस यात्रा के लिए क्रूज बोट पर सवार हो गईं। क्रूज बोट पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुछ छात्र छात्राएं और कांग्रेस के कुछ नेता मौजूद थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here