मजीठिया मामले पर “आप” का पंजाब धड़ा बना सकता है अलग पार्टी

0
144
arvind kejriwal

बिक्रम मजीठिया से माफी मांगकर जहां अरविंद केजरीवाल फंसते नजर आ रहे हैं. वहीं अब पंजाब सरकार भी इस मामले में बंटी नजर आ रही है. पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू जहां एक ओर मजीठिया की गिरफ्तारी की मांग कर रही हैं. वहीं सूबे के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं. दिल्ली में कांग्रेस के अधिवेशन में पहुंचे अमरिंदर सिंह से जब इस मुद्दे पर सवाल किया गया तो वो चुप्पी साध गए.

दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया से माफी मांग ली. केजरीवाल ने उन पर मादक पदार्थों के कारोबार में शामिल होने का आरोप लगा था. केजरीवाल की माफी के बाद पार्टी की पंजाब इकाई में संकट शुरू हो गया है. AAP पंजाब के नेता एक अलग पार्टी बनाने पर विचार कर रहे हैं. पार्टी की पंजाब इकाई ने कहा कि केजरीवाल का ‘निरीह तरीके से नतमस्तक’ हो जाना पीड़ादायक और दुर्भाग्यपूर्ण है. मजीठिया ने आरोप लगाने के लिए केजरीवाल के खिलाफ मानहानि का मामला दायर किया था.

बन सकती है नई पार्टी

पंजाब आप ने दो दौर की लंबी बैठक की जिसमें पार्टी की दिल्ली इकाई से अलग होकर अलग इकाई के गठन के प्रस्ताव पर चर्चा की गयी. हालांकि अंतिम फैसला आगे के लिए टाल दिया गया. बैठक में लोक इंसाफ पार्टी के दो विधायकों सहित करीब 20 विधायकों ने हिस्सा लिया जबकि शाम में हुई दूसरी दौर की बैठक से कुछ विधायक नदारद रहे.

पंजाब आप के वरिष्ठ नेता कंवर संधू ने संवाददाताओं से कहा,”सभी विधायक अरविंद केजरीवाल के राज्य के नेताओं से विचार विमर्श किए बिना माफी मांगने की निंदा करते हैं. इससे पंजाब में पार्टी की स्थिति अस्थिर हो गयी और हमारे पार्टी के स्वयंसेवक, हमारे घटक, यहां तक कि हमारे अप्रवासी भारतीय समर्थक भी बेहद नाराज हैं. हमारी अगली कार्रवाई, अगले विकल्प को लेकर चर्चा की गयी.”

उन्होंने कहा,”दो से तीन प्रस्ताव रखे गए हैं जिनपर गहन चर्चा की गयी. उनमें से एक इससे जुड़ा था कि क्या हमें दिल्ली इकाई से अलग होकर एक नयी इकाई का गठन करना चाहिए या ऐसे ही काम करते रहना चाहिए. इस पर सहमति नहीं बनी, हालांकि अधिकतर विधायक अलग होना चाहते थे. सदस्यों ने कहा कि वे इस माफी से बेहद नाराज हैं जबकि अन्य ने कहा कि वे चाहते हैं कि दिल्ली का नेतृत्व मुद्दे पर माफी मांगे.”

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here