डिफॉल्टर्स को बचाना चाहते थे पीएम मोदी, इसलिए उर्जित पटेल को देना पड़ा इस्तीफा – राहुल गांधी

उर्जित पटेल बैंकिंग सिस्टम को साफ करने में लगे हुए थे, लेकिन इसके लिए उन्हें अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा।- कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी

0
334

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) लगातार केंद्र सरकार को घेरने में लगे हुए हैं। फिर वो चाहे चीन के साथ सीमा विवाद का मुद्दा हो या देश की आर्थिक स्थिति। मंगलवार को एक बार फिर उन्होंने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) पर हमला बोला है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल (Urjit Patel) के बयान को आधार बनाते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने विलफुल डिफॉल्टर्स को बचाने का काम किया है।

दरअसल, RBI के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल की हाल ही में एक किताब जारी हुई है। इस किताब में मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि सरकार ने लोन न चुकाने वाले लोगों पर नरमी बरती और RBI को भी ऐसा ही करने को कहा गया। इस मुद्दे पर राहुल ने अब केंद्र सरकार को घेरा है।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट कर लिखा, उर्जित पटेल बैंकिंग सिस्टम को साफ करने में लगे हुए थे, लेकिन इसके लिए उन्हें अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा। लेकिन क्यों, क्योंकि पीएम मोदी लोन न चुकाने वालों पर कार्रवाई नहीं करना चाहते थे। 

गौरतलब है कि, केंद्र सरकार के साथ पूर्व गवर्नर का विवाद हो गया था, जिसके बाद उर्जित पटेल ने 2018 में पद से इस्तीफा दे दिया था। इस घटना के बाद काफी विवाद हुआ था, उस समय कांग्रेस और राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर हमला बोला था। 

इस किताब में दावा किया गया था कि आरबीआई की तरफ से डिफॉल्टर को लेकर जो सर्कुलर जारी किया गया था, उसे लेकर सरकार की तरफ से आदेश दिया गया कि इसे वापस लिया जाए। बता दें कि, मोदी सरकार के कार्यकाल में उर्जित पटेल, रघुराम राजन आदि आरबीआई के गवर्नरों ने सरकार के साथ तनातनी के चलते इस्तीफा दे दिया था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here