सचिन पायलट निकम्मा, नाकारा है, लोगों को लड़वाता है’- अशोक गहलोत

गहलोत ने कहा, 'पायलट को कम उम्र में सुबकुछ मिल गया। पायलट ने बहुत गंदा खेला। पायलट लोगों को लड़वाने का काम करते थे, हमने साजिश का पर्दाफाश किया।

0
854

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में जारी सियासी संग्राम के बीच राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जिसमें उन्होंने पूर्व उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका चाल, चरित्र और चेहरा सामने आ गया है। कांग्रेस ने हमेशा सचिन पायलट (Sachin Pilot) का साथ दिया। लेकिन उन्होंने पार्टी की पीठ में छुरा घोंपने का काम किया।

गहलोत ने कहा, ‘पायलट को कम उम्र में सुबकुछ मिल गया। पायलट ने बहुत गंदा खेला। पायलट लोगों को लड़वाने का काम करते थे, हमने साजिश का पर्दाफाश किया। वे (Sachin Pilot) भाजपा के समर्थन से पिछले छह महीनों से साजिश रच रहे थे। किसी ने भी मुझ पर तब विश्वास नहीं किया जब मैं कहता था कि सरकार को गिराने की साजिश चल रही है। कोई नहीं जानता था कि इतने निर्दोष चेहरे वाला व्यक्ति ऐसा काम करेगा। मैं यहां सब्जी बेचने के लिए नहीं आया हूं, मैं मुख्यमंत्री हूं।’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘एक छोटी खबर भी नहीं पढ़ी होगी किसी ने की पायलट साहब को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद से हटाना चाहिए। हम जानते थे कि वो (Sachin Pilot) निकम्मा है, नाकारा है, कुछ काम नहीं कर रहा है खाली लोगों को लड़वा रहा है।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने कभी सचिन पायलट पर सवाल नहीं किया, सात साल के अंदर राजस्थान ही एक ऐसा राज्य है जहां प्रदेशाध्यक्ष बदलने की मांग नहीं की गई। 

उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि कोई उनके (Sachin Pilot) खिलाफ कुछ बोले, सभी ने उनको सम्मान दिया है। ये जो खेल अभी हुआ है, वो दस मार्च को होना था। 10 मार्च को गाड़ी मानेसर के लिए रवाना हुई थी लेकिन हम इसे सबके सामने ले आए। गहलोत ने कहा कि पायलट कांग्रेस अध्यक्ष बनना चाहते थे। बड़े-बड़े कॉरपोरेट उनकी फंडिंग कर रहे हैं। भाजपा की तरफ से भी उनकी फंडिंग की जा रही है।

मुख्यमंत्री गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा, ‘सबको मालूम है, पूरा खेल भाजपा खेल रही है। इतिहास में कभी ऐसा नहीं हुआ होगा कि पार्टी का प्रदेशाध्यक्ष ही अपनी पार्टी की सरकार को गिराने में लगा रहा हो। सात साल में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को हटाने की मांग कभी नहीं उठी, जबकि हमें पता था कि सचिन पायलट कुछ नहीं कर रहे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here