विधायकों ने की सचिन गुट पर कार्रवाई की मांग। पायलट-गहलोत में जल्द कम नहीं होने वाली दूरियां?

सूत्रों ने बताया है कि राजस्थान कांग्रेस के विधायकों ने रविवार को विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट और अन्य बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

0
702

Rajasthan: राजस्थान में जारी सियासी उठापटक खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। बसपा विधायकों के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। वहीं, BJP विधायक मदन दिलावर ने राजस्थान हाईकोर्ट को आदेश को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दूसरी तरफ, कांग्रेस विधायकों ने मांग की है कि सचिन पायलट (Sachin Pilot) और बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

सूत्रों ने बताया है कि राजस्थान कांग्रेस के विधायकों ने रविवार को विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट (Sachin Pilot) और अन्य बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि वह पार्टी आलाकमान के सामने बागी विधायकों की वकालत नहीं करेंगे।

वहीं, भाजपा विधायक दिलावर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। इसमें उन्होंने दलील दी है कि हाईकोर्ट ने बसपा विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर कोई आदेश नहीं दिया है और ना ही रोक लगाई है। बसपा ने भी इस मामले को हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट में भेजने की अपील की है, लेकिन उसकी अर्जी को अभी लिस्ट नहीं किया गया है। 

भाजपा भी अब कांग्रेस की राह पर चलने लगी है, उसने फैसला किया है कि वह 11 अगस्त को अपने विधायकों को जयपुर के एक होटल में ठहराएगी। इसी दिन शाम चार बजे विधायक दल की बैठक होगी। वहीं, बसपा हाईकोर्ट के फैसले के बाद तय करेगी कि विधायकों को कब तक होटल में रखना है। अगर निर्णय कांग्रेस के खिलाफ आता है तो भाजपा विधायक अविश्वास प्रस्ताव लाकर बहुमत परीक्षण की मांग करेंगे। 

राजस्थान में सियासी संग्राम को देखते हुए सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने रविवार सुबह सभी दलों के विधायकों को एक भावुक चिट्ठी लिखकर कहा कि आप सरकार गिराने की साजिश का हिस्सा नहीं बनें। आपकी अंतरात्मा क्या कहती है, उसके आधार पर अपना निर्णय लें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here