राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी की तुलना इंदिरा गाँधी से करते हुए कहा …..

यदि पाकिस्तान को धूल चटाने पर इंदिरा जी का जयकारा हो सकता है तो पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए मोदी जी (PM Modi) का जयकारा क्यों नहीं हो सकता?

0
151

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने पीएम मोदी (PM Modi) की तुलना इंदिरा गांधी से की है. उन्होंने हरिद्वार में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर 1971 में इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को धूल चटाया था, उस समय अटल बिहारी वाजपेयी जी ने संसद में खड़े होकर उनकी प्रशंसा की थी. यदि पाकिस्तान को धूल चटाने पर इंदिरा जी का जयकारा हो सकता है तो पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए मोदी जी (PM Modi) का जयकारा क्यों नहीं हो सकता?

उन्होंने आगे कहा कि लेकिन इसपे कांग्रेस के लोगों को आपत्ति है और कह रहे हैं कि बताइये कितने लोगों को मारा है? बताओ, बहादुर कभी लाशें गिनते हैं? लाशें वीर नहीं गिनते, लाशें तो गिद्ध गिनते हैं.

गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब राजनाथ सिंह ने बालाकोट को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला हो. इससे पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strikes) को लेकर बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान के ऊपर भारत ने दो नहीं बल्कि तीन सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strikes) की है.

पहली उड़ी हमले के बाद, दूसरी पुलवामा के बाद लेकिन तीसरी सर्जिकल स्ट्राइक के बार में उन्होंने नहीं बताया. मंगलौर में राजनाथ सिंह ने कहा कि तीन सर्जिकल स्ट्राइक हुईं. अभी दो की जानकारी ही दूंगा, तीसरे की नहीं. राजनाथ सिंह ने कहा, ”पिछले पांच सालों में हमने 3 बार बार्डर पार कर सफलता पूर्वक स्ट्राइक की है. पहली बार जब उड़ी में हमारे जवान शहीद हुए तब, दूसरी बार जब पुलवामा हमला हुआ, लेकिन तीसरी सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी अभी नहीं दूंगा. राजनाथ सिंह ने आगे कहा, ”भारत अब कमजोर नहीं रहा है”.

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में हुए पुलवामा आतंकी हमले के बाद 26 फरवरी को भारत ने पाकिस्तानी सरजमीं पर पल रहे जैश के आतंकी ठिकानों पर हमला बोला था. भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी शिविर पर 1000 किलो के बम गिराए थे. इसमें काफी आतंकियों के मारे जाने की बात सामने आई. भारत ने करीब 12 मिराज लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल किया और 1000 किलो बमों की बारिश कर दी. इसके बाद पाकिस्तान की बौखलाहट सामने आने लगी और उसने भारत के दावे को खारिज करने की कोशिश की.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here