संसद में उठा देवरिया शेल्टर होम का मुद्दा, राजनाथ बोले दोषियों को मिलेगी सख्त सज़ा

0
421

उत्तर प्रदेश के देवरिया शेल्टर होम से 18 लड़कियों के गायब होने का मामला अभी सुलझा भी नहीं था कि यूपी के हरदोई शेल्टर होम से 19 लड़कियों के गायब होने से प्रदेश में सनसनी मच गई है। दरअसल देवरिया के शेल्टर होम से 24 लड़कियों को मुक्त कराया गया है जबकि 18 लड़कियां अभी भी गायब हैं। देवरिया शेल्टर होम को प्रशासन ने सील कर दिया है।

देवरिया शेल्टर होम से 19 महिलाएं गायब
दूसरी तरफ अब हरदोई के बेनीगंज में निराश्रित महिलाओं के लिए संचालित स्वाधार गृह में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। यहां के शेल्टर होम से 19 महिलाएं गायब हैं। इसका खुलासा तब हुआ जब डीएम शेल्टर होम का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां का रजिस्टर देखा तो उसमें 21 महिलाओं के नाम दर्ज थे, जबकि मौके पर सिर्फ दो ही महिलाएं थीं। डीएम ने शेल्टर होम का अनुदान तत्काल रोकने की सिफारिश की है। बाकि महिलाओं के बारे में जब पूछा गया तो किसी को भी इसकी जानकारी नहीं थी।

संसद में उठा देवरिया शेल्टर होम का मुद्दा
बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस जैसी घटना सामने आने के बाद प्रदेश की सियासत गरमा गई है। इसकी गूंज एकबार फिर संसद में भी सुनाई दी। मंगलवार को देवरिया और मुजफ्फरपुर मामले पर संसद में हंगामा हुआ। लगातार हंगामे और विपक्षी दलों के आरोपों का जवाब देने खुद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को सामने आना पड़ा। राजनाथ ने सरकार की तरफ से पक्ष रखते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में हुई घटना पर योगी सरकार ने तुरंत कार्रवाई की। उन्होंने भरोसा दिलाया कि सरकार दोषियों को कड़ी सजा दिलवाएगी।
दिल्ली में आरजेडी, एसपी और सीपीआई सांसदों ने संसद परिसर में तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया और बीजेपी सरकार को घेरा। मामले पर जवाब देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देवरिया मामले पर उत्तर प्रदेश सरकार ने तुरंत कार्रवाई की और जिलाधिकारी को भी तुरंत हटाया गया। सरकार दोषियों को सजा दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है।

उत्तर प्रदेश की महिला व बाल कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने भी इस मामले पर मंगलवार को कहा कि इसके लिए जिम्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। रीता ने कहा कि इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। यह लापरवाही के चलते हुए कहा या सोची-समझी साजिश के तहत, यह मामले पर रिपोर्ट्स आने के बाद स्पष्ट हो सकेगा। उन्होंने कहा, ‘सीएम ने खुद इस मामले को संज्ञान में लिया है और वह इस मामले में जिम्मेदार लोगों को सजा दिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’

रीता ने राजनीतिक दलों पर मामले को राजनीतिक रंग देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘वे राजनीतिक दल इसे राजनीति का मुद्दा बना रहे हैं, जिनके संरक्षण में यह बालिका गृह चलता रहा।’ बता दें, देवरिया के इस शेल्टर होम से 24 लड़कियों को मुक्त कराया गया है और करीब 18 लड़कियां अभी भी गायब हैं। शेल्टर होम को प्रशासन ने सील कर दिया है।

निरंजन कुमार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here