Kanpur Encounter Case: विकास दुबे अब तक पुलिस की गिरफ्त से दूर, टोल प्लाजा पर लगाए गए पोस्टर

कानपुर के चौबेपुर क्षेत्र में आठ पुलिस वालों की हत्या का आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.

0
1276

Kanpur: कानपुर के चौबेपुर क्षेत्र में आठ पुलिस वालों की हत्या का आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. पुलिस विकास दुबे की खोज में रात-दिन लगी हुई. उत्तर प्रदेश के साथ-साथ अन्य राज्यों में भी उसकी तलाश की जा रही है. ANI के मुताबिक, पुलिस ने कानपुर एनकाउंटर केस (Kanpur Encounter Case) में मुख्य आरोपी विकास दुबे की फोटो उन्नाव टोल प्लाजा (Toll Plaza) समेत कई जगहों पर लगाई है. विकास की तलाश में अभियान चलाया जा रहा है.

कानपुर पुलिस (Kanpur Police) ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी के निर्देश पर विकास दुबे (Vikas Dubey) के चौबेपुर स्थित घर की तलाशी ली गई. तलाशी के दौरान कई जगहों से भारी मात्रा में गोला बारूद और तमंचे बरामद हुए हैं. पुलिस ने विज्ञप्ति में कहा कि गोला बारूद, तमंचों और बमों को दीवरों, छत व फर्श में बने गुप्त स्थानों पर छुपा कर रखा गया था. उसके घर में 2 किलो विस्फोटक पदार्थ, 6 तमंचे, 25 कारतूस और 15 देशी बम बरामद हुए हैं.

बता दें कि कानपुर के चौबेपुर (Chaubepur) में गुरुवार देर रात क्षेत्राधिकारी देवेंद्र मिश्रा की अगुवाई में एक पुलिस टीम बिकरू गांव में विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए दबिश देने गई थी. हालांकि, विकास दुबे के पास पुलिस के आने की सूचना पहले ही पहुंच गई थी. जिसके बाद घात लगाकर बैठे विकास दुबे और उसके साथियों ने आठ पुलिस कर्मियों की हत्या कर दी थी.

शनिवार रात पुलिस ने मुठभेड़ के बाद विकास दुबे (Vikas Dubey) के एक साथी और इनामी बदमाश दया शंकर अग्निहोत्री को गिरफ्तार किया था. दया शंकर ने बताया कि पुलिस के दबिश देने से पहले ही थाने से विकास दुबे के पास फोन आ गया था, जिसके बाद विकास ने फोन करके 25-30 लोगों को बुला लिया. पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपियों में दया शंकर अग्निहोत्री भी शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here