UP में पोस्टर चिपकाकर पहचाने जा रहे बवाली, गाजियाबाद में अब तक 92 दबोचे

बवाल करने वाले लोगों को यूपी पुलिस दबिश देकर गिरफ्तार कर रही है। पुलिस ने बवालियों के पोस्ट और होर्डिंग लगाकर पहचान की है। रविवार को गाजियाबाद जिले में 27 बवालियों को पकड़ा गया है।

0
707

CAA के विरोध में बवाल करने वाले लोगों को यूपी पुलिस (UP Police) दबिश देकर गिरफ्तार कर रही है। पुलिस ने बवालियों के पोस्ट और होर्डिंग लगाकर पहचान की है। रविवार को गाजियाबाद (Ghaziabad) जिले में 27 बवालियों को पकड़ा गया है। देर रात तक पुलिस आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश देती रही।

बताया गया कि गाजियाबाद जिले (Ghaziabad) में रविवार को 27 में से 23 लोगों को जेल भेजा गया। यहां सपा नेता डा. अबरार (Dr Abrar) समेत 92 आरोपियों को पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है। बवाल वाले स्थानों पर पुलिस रविवार को भी निरीक्षण कर जायजा लिया। पुलिस CCTV फुटेज निकलवाने में लगी है।

SSP सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि लोनी बॉर्डर (Loni Border) और लोनी थाने की संयुक्त टीम गिरफ्तारी बवाल करने वाले लोगों को गिरफ्तार कर रही हैं। वह दबिश दे रही हैं। उन्होंने बताया कि पकड़े गए सभी आरोपी लोनी क्षेत्र के हैं, जिन्हें थाने में दाखिल कराया गया है। लोनी में रविवार को दिन में 20 लोगों को गिरफ्तार किया था और आधी रात के समय तीन आरोपी और पकड़े गए।

नगर कोतवाली पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ा है, जबकि मुरादनगर पुलिस (Murad Nagar Police) ने तीन आरोपियों को दबोचा है। जिलेभर में अभी तक 92 लोगों को पकड़ा जा चुका है। एसएसपी ने बताया कि जहां-जहां बवाल हुआ है, वहां की वीडियोग्राफी कराई गई थी।

इस वीडियो के स्क्रीनशॉट्स (Screen Shots) निकालकर आरोपियों की फोटो एकत्रित करके कई पोस्टर बनाए गए हैं। इन्हें हर क्षेत्र में लगाया गया है। कैला भट्ठा में रविवार शाम पुलिस ने ये पोस्टर लगाए तो सैकड़ों की भीड़ एकत्र हो गई। लोग पोस्टर को बड़े ध्यान से देखते नजर आए।

कैला भट्ठा में रविवार को भी पूरे दिन पुलिसकर्मी गश्त करते रहे। एसपी सिटी डा. मनीष मिश्र और ADM City शैलेंद्र कुमार सिंह जायजा लेने पहुंचे। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में शांति का माहौल है।

विरोध-प्रदर्शन और बवाल की रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को भेजी गई है। जिले से 20 हजार लोग दिल्ली जाने के लिए निकले थे। पुलिस ने उन्हें रोका था। एसपी सिटी डा. मनीष मिश्र ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि LIU की सटीक रिपोर्ट के आधार पर लोगों को मेन रोड पर भी नहीं आने दिया गया था। अकेले लोनी से ही 11 हजार लोग दिल्ली जाने के लिए घरों से इकट्ठे होकर निकले थे।

अलग-अलग जगहों से लोग इकट्ठे होकर निकले ही थे कि पुलिस अधिकारियों ने इन्हें समझा-बुझाकर लौटा दिया। पसौंडा में करीब चार हजार, शहीदनगर व नगर कोतवाली क्षेत्र से दो-दो हजार और सिहानी गेट थानाक्षेत्र में हिंडन विहार से एक हजार लोग CAA और NRC के विरोध में प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली जाना चाहते थे।

पहले जारी हाईअलर्ट और LIU व IB की सक्रियता के कारण पुलिस को इसकी पहले भनक थी। हालांकि डासना-मसूरी को पुलिस अधिक संवेदनशील मान रही थी, लेकिन वहां किसी विरोध या बवाल की स्थिति पैदा नहीं हुई। इन स्थानों पर स्थिति सामान्य रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here