IPL 2021, RR vs DC: दिल्ली जीता जिताया गेम हारा राजस्थान से

दिल्ली के दोनों ओपनरों शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने पिछले मैच में अपने बल्ले की तपिश से बॉलरों को झुलसा दिया था, लेकिन राजस्थान के खिलाफ ये दोनों ही झुलस गए.

0
496

IPL 2021 के मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स ने एक बहुत ही रोमांचक मुकाबले में मैच की तस्वीर को पलटते हुए दिल्ली को 3 विकेट से हरा दिया. और तस्वीर पलटने और दिल्ली के दांत खट्टे करने के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार रहे नंबर-8 क्रम के ऑलराउंडर क्रिस मौरिस (नाबाद 36 रन, 18 गेंद 4 छक्के). मौरिस ने आखिरी पलों में दिल्ली कैपिटल्स के ख्वाब चूर करते एक तरह से हारी हुयी बाजी को राजस्थान के लिए जीत में बदल दिया और रॉयल्स ने 149 रन का टारगेट 19.4 ओवरों में तीन विकेट बाकी रहते हुए हासिल कर लिया. जब आवेश खान ने पारी के 16वें ओवर में राजस्थान की उम्मीद जगाने वाले डेविड मिलर (62) को आउट किया, तो लगा कि यहां से दिल्ली कैपिटल्स की जीत औपचारिकता भर है क्योंकि यहां से उसे जीत के लिए 25 गेंदों पर 44 रन की दरकार थी. एक समय यह लक्ष्य 12 गेंदों पर 27 रन हो गया था. और जब एक ओवर दो विकेट चटकाने वाले अनुभवी रबाडा का बाकी था, तो सभी उम्मीद कर रहे थे कि राजस्थान के लिए जीत बहुत ही मुश्किल होगी, लेकिन नंबर-8 बल्लेबाज क्रिस मौरिस ने सभी को हैरान कर दिया. मौरिस ने रबाडा के फेंके 19वें ओवर में दो छक्के जड़े, तो टॉम कुरेन के आखिरी ओवर में फिर से दो छक्के जड़ते हुए मैच को राजस्थान की झोली में डाल दिया. राजस्थान की शुरुआत भी दिल्ली की तरह बहुत ही खराब रही थी और उसके चार बललेबाज दहाई का आकंड़ा तक नहीं छू सके थे. और टीम हार की तरफ बढ़ रही थी, लेकिन पहले मिलर और फिर मौरिस ने पूरी तस्वीर बदल दी.

इससे पहले दिल्ली कैपिटल्स पहले बल्लेबाजी करते हुए राजस्थान रॉयल्स के सामने जीत के लिए 149 रन का लक्ष्य रखा है. लड़खड़ायी दिल्ली कैपिटल्स को यहां तक पहुंचने में कप्तान ऋषभ पंत (51) और निचले क्रम के बल्लेबाजों टॉम कुरेन (21), ललित यादव (20) और क्रिस वोक्स (नाबाद 15) का योगदान रहा. दिल्ली की शुरुआत बहुत ही खराब रही थी और हालत ये थी कि पावर-प्ले में ही जयदेव उनादकट ने दिल्ली के बल्लेबाजों की पावर गोल कर दी थी. छह ओवर बाद दिल्ली का स्कोर 3 विकेट पर 36 रन था. धवन, पृथ्वी शॉ को मिलाकर शीर्ष चार बल्लेबाज दहाई का भी आंकड़ा नहीं छू सके थे. दिल्ली के शुरुआती तीन विकेट जयदेव ने चटकाए थे और एक समय तो ऐसा लग रहा था कहीं दिल्ली सौ से पहले ही न सिमट जाए, लेकिन यहां से कप्तान ऋषभ पंत ने एक छोर पर अच्छी बल्लेबाजी की, तो निचले बल्लेबाजों ने दिखाया कि वह जरूरत पर जूझने का माद्दा रखते हैं और इस मिली-जुली कोशिश से कैपिटल्स कोटे के 20 ओवर में 7 विकेट पर 148 रन तक पहुंचने में सफल रहे. कैपिटल्स के लिए जयदेव ने तीन, तो मुस्तिफजुर ने दो विकेट लिए. एक विकेट क्रिस मौरिस के हिस्से आया.

पिछले मैच में दिल्ली के दोनों ओपनरों शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने पिछले मैच में अपने बल्ले की तपिश से बॉलरों को झुलसा दिया था, लेकिन राजस्थान के खिलाफ ये दोनों ही झुलस गए. और सिर्फ यही दोनों ही नहीं, बल्कि शीर्ष चार बल्लेबाज जयदेव उनादकट के जाल में बारी-बारी से फंसते चले गए. हालात ऐसी रही रही की दिल्ली कैपिटल्स शुरुआती छह ओवरों में 36 रन पर तीन विकेट गंवाकर पूरी तरह से बैकफुट पर थे. ये तीनों ही विकेट जयदेव ने लिए और रहाणे सहित टॉप के तीन बल्लेबाजों को दहाई के आंकड़ा का भी स्वाद नहीं चखने दिया.

इससे पहले राजस्थान के कप्तान संजू सैमसन ने टॉस जीतकर एक बार फिर से पहले बॉलिंग करने का फैसला किया है. दिल्ली की तरफ से युवा ललित यादव को कैप दी गयी. वह अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे हैं.

दोनों ही टीमों को अपने पिछले मुकाबले में अलग-अलग परिणाम का सामना करना पड़ा था. जहां कैपिटल्स अपना पहला मुकाबला जीतकर आ रही है, तो वहीं राजस्थान को अपने पहले मैच में जीत के मुहाने पर पहुंचकर हार का घूंट पीने को मजबूर होना पड़ा था. दिल्ली ने धोनी की सीएसके को मात दी थी, तो राजस्थान रोहित की मुंबई के हाथों हार गया था. और निश्चित ही पिछले मैचों के परिणाम का असर दोनों टीमों की शारीरिक भाषा पर एकदम स्पष्ट दिखायी पड़ेगा. और इसमें दो राय नहीं कि दिल्ली कैपिटल्स के पत्ते पहले ही मैच से दुरस्त होते दिख रहे हैं, तो राजस्थान को अभी भी करने बाकी हैं. वहीं, राजस्थान को बड़ा झटका तब लगा, जब बेन स्टोक्स पूरे सेशन से बाहर हो गए. साफ है कि वानखेड़े में परीक्षा तो राजस्थान की ही होगी. वो बात अलग है और आप भी जानते हैं कि टी20 दिन विशेष का खेल है और कुछ भी हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here