नवाज और मरियम पाकिस्तान के लिए रवाना, लाहौर सील, 10 हजार जवान तैनात

0
452

भ्रष्टाचार मामले में जेल की सजा पाए पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और बेटी मरियम नवाज शुक्रवार को पाकिस्तान लौट रहे हैं। खबर है कि वह अपनी बेटी के साथ अबू धाबी पहुंच गए हैं। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो की एक टीम शरीफ के प्लेन में ही मौजूद रहेगी और ऐसे में लाहौर में लैंड करने से पहले ही उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है। लाहौर एयरपोर्ट से सीधे उन्हें जेल ले जाया जाएगा। नवाज और मरियम की गिरफ्तारी के लिए पाकिस्तान में व्यापक तैयारियां की गई हैं। लाहौर को एक तरह से सील कर दिया गया है।

लाहौर में 10,000 से ज्यादा पुलिस ऑफिसरों की तैनाती हुई है। प्रशासन ने आदेश दिया है कि शहर में शाम 3 बजे से रात 12 बजे तक मोबाइल फोन्स बंद रहेंगे। पाकिस्तानी अखबार द डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक नवाज की गिरफ्तारी के लिए 3 हेलिकॉप्टर और पंजाब चीफ मिनिस्टर के प्लेन को तैयार रखा गया है। एयरपोर्ट की निगरानी के लिए 2000 से अधिक रेंजर्स की तैनाती की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक एक हेलिकॉप्टर लाहौर एयरपोर्ट पर, एक इस्लामाबाद एयरपोर्ट पर और एक रावलपिंडी में नूर खान एयरबेस में रखा गया है। पंजाब सीएम का प्लेन लाहौर एयरपोर्ट पर रखा गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक लाहौर एयरपोर्ट से नवाज और मरियम को रावलपिंडी ले जाया जाएगा। अगर मौसम खराब रहा तो नवाज की फ्लाइट इस्लामाबाद भी ले जाई जा सकती है। इससे पहले प्रशासन ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) कार्यकर्ताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर कारवाई शुरू कर दी है। अब तक करीब 300 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है।

हवाई अड्डे पर स्वागत के लिए रैली की तैयारी
दरअसल, पीएमएल-एन की अपने शीर्ष नेता और पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की लंदन से स्वदेश वापसी पर लाहौर हवाई अड्डे पर बड़ी रैली की तैयारी के मद्देनजर यह कारवाई शुरू की गई है। शरीफ और मरियम को पाकिस्तान की एक अदालत ने ऐवनफील्ड अपार्टमेंट मामले में दोषी ठहराते हुए 10 और 7 साल की सजा सुनाई थी। पीएमएल-एन प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने बताया कि पुलिस ने करीब 300 कार्यकर्ताओं, जिनमें से ज्यादातर लाहौर के हैं, को गिरफ्तार किया है ताकि वे अपने नेताओं के स्वागत के लिए हवाई अड्डे नहीं पहुंच सकें।

कार्रवाई के बावजूद एयरपोर्ट पर रहेंगे समर्थक
औरंगजेब ने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर पीएमएल-एन कार्यकर्ताओं के खिलाफ कभी कारवाई नहीं की गई। मार्शल लॉ के दौरान भी नहीं। इसके बावजूद कार्यकर्ता अपने नेताओं के भव्य स्वागत के लिए जरूर पहुंचेंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने कहा कि पीएमएल-एन के विरोधी दलों को रैली आयोजित करने की खुली छूट दी गई है, जबकि हमारे कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए लाहौर में धारा 144 लागू कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here