Coronavirus Impact: इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट, 3100 से ज्यादा अंक फिसला सेंसेक्स

Coronavirus के कहर से बाजार में कोहराम मचा है। दोपहर 2:34 बजे Sensex 3,124.68 अंक यानी 8.75 फीसदी की ढलान के साथ 32,572.68 के स्तर पर आ गया।

0
3939

आज सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन यानी गुरुवार को शेयर बाजार में फिर से जबरदस्त गिरावट देखने को मिल रही है। ना सिर्फ भारत, बल्कि दुनियाभर के बाजारों की हालत बुरी है। कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर से बाजार में कोहराम मचा है। दोपहर 2:34 बजे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (Bombay Stock Exchange) का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स (Sensex) 3,124.68 अंक यानी 8.75 फीसदी की ढलान के साथ 32,572.68 के स्तर पर आ गया। इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी (NIFTY) 946.25 अंक यानी 9.05 फीसदी की गिरावट के साथ 9,512.15 के निचले स्तर जा पहुंचा।

दोपहर 2:34 बजे सेंसेक्स 2,959.47 अंक यानी 8.29 फीसदी की गिरावट के साथ 32,737.93 के स्तर पर था। इसी प्रकार निफ्टी 842.80 अंक यानी 8.06 फीसदी की गिरावट के साथ 9,615.60 के निचले स्तर जा पहुंचा था। सुबह 11:13 बजे सेंसेक्स 2,601 अंक यानी 7.29 फीसदी की गिरावट के बाद 33,095.93 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। निफ्टी 758.25 अंक यानी 7.25 फीसदी की गिरावट के बाद 9,700 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

वहीं इससे पहले सुबह 10:58 बजे सेंसेक्स 2,411.11 अंक यानी 6.75 फीसदी की गिरावट के बाद 33,286.29 के स्तर पर था। निफ्टी 710.45 अंक यानी 6.79 फीसदी की गिरावट के बाद 9,747.95 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। वहीं सुबह 10:47 बजे सेंसेक्स 2,074.28 अंक यानी 5.81 फीसदी की गिरावट के बाद 33,623.12 के स्तर पर था और निफ्टी 608.35 अंक यानी 5.82 फीसदी की गिरावट के बाद 9,850.05 के स्तर पर था।

इससे पहले सुबह 10:06 बजे सेंसेक्स 1,883.19 अंक यानी 5.28 फीसदी की गिरावट के बाद 33,814.21 के स्तर पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी 576.25 अंक यानी 5.51 फीसदी की गिरावट के बाद 9,882.15 के स्तर पर था।

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 1,784.14 अंक यानी 5.03 फीसदी की गिरावट के बाद 33,903.26 के स्तर पर खुला था। जबकि निफ्टी 532.65 अंक यानी 5.09 फीसदी की गिरावट के बाद 9,925.75 के स्तर पर खुला था। आज के कारोबार में चौतरफा बिकवाली दिख रही है।

शेयर बाजार के पतन के चलते निवेशकों के 8.56 लाख करोड़ रुपये डूब गए। बीएसई में सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बुधवार को कारोबार खत्म होने पर 137 लाख करोड़ रुपये था, जो गुरुवार को सुबह साढ़े 10 बजे तक घटकर 128 लाख करोड़ रुपये रह गया।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना को विश्वव्यापी महामारी घोषित कर दिया है। WHO के प्रमुख ने कहा कि कोविड-19 को पैनडेमिक- विश्वव्यापी महामारी (Pandemic) माना जा सकता है। सरकार ने 15 अप्रैल तक सभी देशों के पर्यटक वीजा निलंबित कर दिए हैं। इसलिए बाजार में भारी गिरावट आई।

भारी गिरावट से वैश्विक आर्थिक मंदी की आशंका गहरा गई है। कच्चे तेल की कीमतों में भी गिरावट का रुख है। ब्रेंट क्रूड वायदा पांच फीसदी टूटकर 34 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया है। इस सभी वैश्विक कारणों की चपेट में घरेलू शेयर बाजार भी आया।

वैश्विक बाजारों की बात करें, तो अमेरिकी शेयर बाजार में बुधवार को जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई। बेंचमार्क डाउ जोंस 1,400 अंकों से ज्यादा फिसला और 23,553.22 पर बंद हुआ, जिसके बाद एशियाई बाजारों में भी गिरावट देखने को मिली। सिंगापुर एक्सचेंज पर निफ्टी फ्यूचर्स करीब 4 फीसदी से ज्यादा की गिरावट के साथ कारोबार करते दिखाई दे रहे थे। वहीं टोक्यो बेंचमार्क निक्केई 2.24 फीसदी गिरा, साउथ कोरिया का कॉस्पी 1.22 फीसदी और ऑस्ट्रेलिया का एएसएस शुरुआती ट्रेड में 2.6 फीसदी नीचे देखे गए।

दिग्गज शेयरों की बात करें, तो आज सभी कंपनियों के शेयर लाल निशान पर खुले। शीर्ष गिरावट वाले शेयरों में आईओसी, इंडसइंड बैंक, टाटा स्टील, कोल इंडिया, वेदांता लिमिटेड, बीपीसीएल, इंफोसिस, टाटा मोटर्स और पावर ग्रिड शामिल है।

दो दिन से यस बैंक के शेयर में आ रही बढ़त पर आज ब्रेक लग गई है। यस बैंक का शेयर आज सुबह 9:44 बजे 2.75 अंक यानी 9.55 फीसदी की गिरावट के बाद 26.05 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। शुरुआती कारोबार में यह 28.70 के स्तर पर खुला था जबकि पिछले कारोबारी दिन यह 28.80 के स्तर पर बंद हुआ था। नकदी संकट से जूझ रहे इस बैंक में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 2,450 करोड़ रुपये में 49 फीसदी हिस्सेदारी लेने की बात कही थी, जिसके बाद दो दिनों से इसमें तेजी देखी जा रही थी। दरअसल पिछले सप्ताह रिजर्व बैंक ने संकट में फंसे यस बैंक पर मौद्रिक सीमा लगा दी। इसके तहत खाताधारक अब यस बैंक से 50 हजार रुपये से ज्यादा रकम नहीं निकाल सकेंगे। निकासी की यह सीमा 3 अप्रैल, 2020 तक लागू रहेगी।

इसके साथ ही आज एसबीआई का शेयर भी गिरावट के साथ खुला। सुबह 9:47 बजे इसमें 18.55 अंक यानी 7.57 फीसदी की गिरावट देखने को मिली और यह 226.55 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। शुरुआती कारोबार में यह 231.90 के स्तर पर खुला था जबकि पिछले कारोबारी दिन यह 245.10 के स्तर पर बंद हुआ था।

रिलायंस की बात करें तो यह आज सुबह 9:50 बजे 65.80 अंक यानी 5.70 फीसदी की गिरावट के बाद 1,087.75 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। शुरुआती कारोबार में यह 1,085 के स्तर पर खुला था और पिछले कारोबारी दिन रिलायंस का शेयर 1,153.55 के स्तर पर बंद हुआ था। सोमवार को रिलायंस के शेयर में आठ साल में सबसे बड़ी गिरावट आई थी। तब यह 12 फीसदी से अधिक टूटा था।

सेक्टोरियल इंडेक्स पर नजर डालें, तो आज सभी सेक्टर्स की शुरुआत गिरावट पर हुई। इनमें पीएसयू बैंक, प्राइवेट बैंक, मीडिया, आईटी, फार्मा, एफएमसीजी, रियल्टी, ऑटो और मेटल शामिल हैं।

आज औद्योगिक उत्पादन और खुदरा मुद्रास्फीति के आंकड़े जारी होने हैं, जिसका निवेशकों को इंतजार है। वहीं थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति के आंकड़े शुक्रवार को जारी होंगे।

प्री ओपन के दौरान सुबह 9:10 बजे शेयर मार्केट लाल निशान पर था। सेंसेक्स 1,224.90 अंक यानी 3.43 फीसदी की गिरावट के बाद 34,472.50 के स्तर पर था। वहीं निफ्टी 418.45 अंक यानी 4 फीसदी की गिरावट के बाद 10,039.95 के स्तर पर था।

सुबह के सत्र में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 82 पैसे टूटकर 74.50 तक पहुंच गया। हालांकि बाद मे इसमें कुछ सुधार हुआ और यह 46 पैसे की गिरावट के साथ 74.14 पर पहुंच गया।

बुधवार को सेंसेक्स 226.91 अंक यानी 0.64 फीसदी की गिरावट के बाद 35,408.04 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 68.95 अंक यानी 0.66 फीसदी की गिरावट के बाद 10,382.50 के स्तर पर खुला था। इसके बाद दोपहर 12:01 बजे सेंसेक्स 191.05 अंक यानी 0.54 फीसदी की बढ़त के बाद 35,826 के स्तर पर कारोबार कर रहा था। जबकि निफ्टी 33.85 अंक यानी 0.32 फीसदी की बढ़त के बाद 10,485.30 के स्तर पर कारोबार कर रहा था।

बुधवार को दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद शेयर बाजार सपाट स्तर पर बंद हुआ था। सेंसेक्स 62.45 अंक यानी 0.18 फीसदी की बढ़त के बाद 35,697.40 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 2.55 अंक यानी 0.02 फीसदी की गिरावट के बाद 10,448.90 के स्तर पर बंद हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here