आर्थिक सुस्ती को लेकर शिव सेना का भाजपा पर तंज कहा ‘इतना सन्नाटा क्यों है भाई?

शिवसेना ने इस डायलॉग के माध्यम से देश में आर्थिक सुस्ती और त्योहारों के मौके पर बाजारों से गायब रौनक के लिए सरकार के नोटबंदी और गलत तरीके से माल एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने को जिम्मेदार बताया है।

0
268

महाराष्ट्र में भाजपा की गठबंधन सहयोगी शिवसेना (Shiv Sena) ने देश में आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) को लेकर सोमवार को केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा ‘इतना सन्नाटा क्यों है भाई?

शिवसेना (Shiv Sena) ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा है, ”…..इतना सन्नाटा क्यों है भाई???? इस डायलॉग के माध्यम से पार्टी ने देश और महाराष्ट्र में छायी आर्थिक सुस्ती को लेकर सरकार पर निशाना साधा है।

शिवसेना ने इस डायलॉग के माध्यम से देश में आर्थिक सुस्ती और त्योहारों के मौके पर बाजारों से गायब रौनक के लिए सरकार के नोटबंदी और गलत तरीके से माल एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने को जिम्मेदार बताया है।

उसने सामना में लिखा है, ”सुस्ती के डर से बाजारों की रौनक चली गयी है और बिक्री 30 से 40 प्रतिशत की कमी आयी है। उद्योगों की हालत खराब है और विनिर्माण इकाइयां बंद हो रही हैं, इससे लोगों की नौकरियां जा रही हैं।

मराठी ‘सामना ने लिखा है कि कई बैंकों की हालत खराब है, वे वित्तीय संकट से जूझ रहे हैं और लोगों के पास खर्च करने को पैसा नहीं है। ‘सामना ने लिखा है, ”दूसरी ओर सरकार भी भारतीय रिजर्व बैंक से धन निकालने को मजबूर हुई है। दीवाली पर बाजारों में सन्नाटा छाया है, लेकिन विदेशी कंपनियां ऑनलाइन शॉपिंग साइटों के माध्यम से देश के पैसे से अपनी तिजोरियां भर रही हैं।

संपादकीय में लिखा है, बेवक्त हुई बारिश के कारण किसानों की तैयार फसल खराब हो गयी जिससे उनकी माली हालत खराब है। ”लेकिन बदकिस्मती है कि कोई भी किसानों को इससे बाहर निकालने की नहीं सोच रहा है। संपादकीय ने दावा किया कि दिवाली से ऐन पहले हुए राज्य विधानसभा चुनावों में भी शोर कम और ‘सन्नाटा ज्यादा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here