SIT ने स्वामी चिन्मयानंद पर बिना अनुमति कहीं भी जाने पर लगाई रोक।

SIT ने छात्रा के आरोपो से घिरे स्वामी चिन्मयानंद के आश्रम की घेराबंदी कर दी और स्वामी को बगैर अनुमति कहीं भी जाने पर रोक लगा दी है।

0
501

छात्रा के आरोपो से घिरे स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayananda) से SIT ने गुरुवार रात करीब एक बजे तक पूछताछ की। इसके बाद उन्हें आश्रम भेज दिया गया। रात करीब सवा तीन बजे टीम के साथ पहुंचे फोर्स ने आश्रम की घेराबंदी कर स्वामी को बगैर अनुमति कहीं भी जाने पर रोक लगा दी है।

इससे पहले एसएस कॉलेज के प्राचार्य अवनीश मिश्रा और एसएस लॉ कॉलेज के प्राचार्य संजय बरनवाल से भी घटना को लेकर पूछताछ की गई। कई दौर की जांच के बाद बृहस्पतिवार देर शाम SIT ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद को पुलिस लाइन स्थित कैंप कार्यालय बुलाया।

उनसे पूछताछ का दौर शुरू हुआ जो रात 1:10 बजे तक जारी रहा। SIT ने उनसे छात्रा द्वारा लगाए गए आरोपों और मालिश कराते हुए वायरल हुए वीडियो तथा पांच करोड़ की रंगदारी मांगे जाने के मामले में तमाम मुद्दों पर पूछताछ की।

SIT ने एसएस कॉलेज के प्राचार्य से लिखित तौर पर जानकारी ली कि मुमुक्षु आश्रम परिसर में कौन-कौन सी शिक्षण संस्थाएं चल रही हैं और इन संथानों की स्थापना कब-कब हुई और इन शिक्षण संस्थाओं की प्रबंध समिति में शामिल लोगों के बारे में भी जानकारी ली।

बता दें कि मुमुक्षु आश्रम परिसर में एसएस कॉलेज, एसएस लॉ कॉलेज, ब्रह्मचर्य संस्कृत महाविद्यालय, एसएसएमबी, स्वामी धर्मानंद सरस्वती इंटर कॉलेज का संचालन हो रहा है। इन शिक्षण संस्थानों में लगभग दस हजार छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। स्टाफ में करीब पांच सौ लोग हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here