उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में 11 लोगों की गोली मारकर हत्‍या

जमीन विवाद को लेकर दो गुटों में खूनी संघर्ष हुआ जिसमें 9 लोगों की मौत हो गई जबकि फायरिंग में 6 लोग घायल भी हुए हैं.

0
167

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में 11 लोगों की गोली मारकर हत्‍या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि जमीन विवाद को लेकर दो गुटों में खूनी संघर्ष हुआ जिसमें 9 लोगों की मौत हो गई जबकि फायरिंग में 6 लोग घायल भी हुए हैं.

वारदात सोनभद्र के घोरावल कस्‍बे के उभ्भा गांव की है जहां जमीन को लेकर हुआ था विवाद. सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची घोरावल पुलिस ने शवों को कब्‍जे में लेकर पोस्‍टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस अधीक्षक खुद घटनास्‍थल पहुंच चुके हैं. जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने बताया, ‘‘गोली चलने से नौ लोगों की मौत हो गई.” पुलिस ने बताया कि सपाही गांव प्रधान यज्ञ दत्त और उनके समर्थकों ने जमीन विवाद में दूसरे पक्ष पर अंधाधुंध गोलियां बरसा दी. मामले की जांच की जा रही है. घायलों को तुरंत अस्पताल ले जाया गया है, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है.

जहां यह वारदात हुई है वह जगह सोनभद्र के जिला मुख्‍यालय रॉबर्ट्सगंज से 55-56 किलोमीटर दूर है. बताया जा रहा है कि जहां यह घटना हुई है वहां यज्ञ दत्त नाम के एक ग्राम प्रधान ने इलाके में करीब 90 बीघे जमीन 2 साल पहले खरीदी थी और वह उसी जमीन का कब्‍जा लेने पहुंचा था. यहां स्‍थानीय लोगों ने उसका विरोध किया जिसके बाद प्रधान के साथ आए लोगों ने कथित रूप से गांववालों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी. यज्ञ दत्त का दावा है कि उसने इलाके में 90 बीघे जमीन खरीदी थी. इसी जमीन का कब्‍जा लेने प्रधान 20 ट्रैक्‍टरों में भरकर 300 लोगों को लेकर आया था. घटना के बाद से प्रधान यज्ञ दत्त फरार है.

इस इलाके में गोंड और गुर्जर अदिवासी रहते हैं और ये गुर्जर लोग वहां दूध बेचने का काम करते हैं. यह इलाका जंगलों से घिरा है और यहां ज्‍यादातर वनभूमि है. चूंकि यहां सिंचाई का कोई साधन नहीं है इसलिए ये स्‍थानीय लोग बारिश के मौसम में बरसात के पानी से वनभूमि पर खरीफ के मौसम में मक्‍के और अरहर की खेती करते हैं. इस इलाके में वनभूमि पर कब्‍जे को लेकर अक्‍सर झगड़ा होता रहता है. इसी इलाके में साल 2014 में तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने 6000 बीघे वनभूमि में 5 लाख पेड़ एक ही दिन में लगवाए थे.

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए मृताकों के परिवारों से संवेदना व्‍यक्‍त है और घटना में घायल हुए लोगों को तत्काल इलाज की बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री ने पुलिस महानिदेशक को स्वयं इस मामले पर नजर रखने का आदेश दिया और यह सुनिश्चित करने को कहा कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here