सोनभद्र: उत्तर प्रदेश पुलिस ने प्रियंका गांधी के काफिले को रोका, जिले में धारा 144 लागू

सोनभद्र जाने के लिए प्रियंका गांधी का काफिला रवाना हुआ लेकिन मिर्जापुर जिले के नारायणपुर में कमिश्नर मिर्जापुर के निर्देश पर प्रियंक गांधी का काफिला रोक दिया गया।

0
204

Sonbhadra: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में 17 जुलाई को जमीनी विवाद को लेकर हुई गोलीबारी में मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) वाराणसी पहुंचीं। यहां बीएचयू के ट्रामा सेंटर अस्पताल जाकर उन्होंने सोनभद्र हत्याकांड में गंभीर रूप से घायल लोगों से उनका हाल जाना।

इसके बाद सोनभद्र जाने के लिए उनका काफिला रवाना हुआ लेकिन मिर्जापुर जिले के नारायणपुर में कमिश्नर मिर्जापुर के निर्देश पर प्रियंक गांधी का काफिला रोक दिया गया। इसके बाद वह मिर्जापुर की नरायणपुर पुलिस चौकी के सामने सड़क पर धरने पर बैठ गई हैं। सोनभद्र जिलाधिकारी ने धारा 144 का हवाला दिया है।

प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के दौरान डीएम वाराणसी और एसएसपी वाराणसी मौके पर पहुंच गए। मिर्जापुर जिले के चुनार एसडीएम प्रियंका को अपनी गाड़ी में बैठा कर चुनार ले गए। वहीं अजय राय को सीओ चुनार अपनी गाड़ी में बैठा कर ले गए। प्रियंका गांधी और अजय राय को चुनार किले के गेस्ट हाउस ले जाया जा रहा है।

काफिला रोके जाने पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि वह बस सोनभद्र फायरिंग मामले में पीड़ितों के परिवारवालों से मिलना चाहती हैं। बताया कि साथ में केवल 4 लोग ही जाएंगे। फिर भी प्रशासन ने उन्हें वहां जाने से रोक दिया। इस पर प्रियंका गांधी ने सवाल किया हमें बताना चाहिए कि हमें क्यों रोका जा रहा है? हम यहां शांति से बैठे रहेंगे।

घोरावल कोतवाली क्षेत्र के उभ्भा मामले में सीएम योगी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान सीएम एसडीएम घोरावल, सीओ घोरावल, एसओ घोरावल सहित हल्का और बीट के सभी सिपाही निंलबित कर दिए गए हैं। साथ ही इस जमीनी विवाद की जांच अपर मुख्य सचिव राजस्व को सौंप दी है।

सोनभद्र जिले के घोरावल कोतवाली क्षेत्र के उभ्भा गांव में भूमि विवाद को लेकर हुई गोलीबारी के बाद खुफिया एजेंसी से जिला प्रशासन को इनपुट मिला है, कि कुछ नेता घटनास्थल पर पहुंचकर माहौल को बिगाड़ने का प्रयास करने वाले हैं। इसको देखते हुए डीएम ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है।

डीएम अंकित कुमार अग्रवाल ने कहा कि जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने के मद्देनजर धारा 144 लागू की गई है। किसी नेता को घटनास्थल पर नहीं जाने दिया जाएगा। एसपी सलमान ताज पाटिल ने कहा कि जिले से सटे जिलों और प्रदेश के बॉर्डर पर फोर्स अलर्ट कर दी गई है। वाहनों की चेकिंग की जा रही है।

विधान सभा में शुक्रवार को भी सोनभद्र मुद्दे पर हंगामें का महौल रहा। सदन शुरू होते ही, विपक्षियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। वहीं मुख्यमंत्री ने सदन को संबोधित करते हुए कहा कि सोनभद्र मामले की जांच कमेटी से कराई जाएगी। इस मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाया जाएगा, जबकि दोषियों को कड़ी सजा दिलाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here